अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूरत में बम गिनते बीता दिनदहशतजदा हुई डायमंड सिटी

चार घंटे के अंदर डायमंड सिटी सूरत मंगलवार को जिंदा बमों से पट गया। सूरत शहर में ग्यारह स्थानों से 18 जिंदा बम बरामद किए गए। हीरा मार्केट वराछा रोड से 14 बम मिले, जबकि करतगाम इलाके से तीन और सरदार चौक से एक बम। बम रोधी दस्ते ने सभी बमों को निष्क्रिय कर दिया है, लेकिन पुलिस को शक है कि आतंकी और बम रख सकते हैं। इन बमों की जानकारी आम लोगों ने दी। उधर पूर्वी राजस्थान क भरतपुर जिल में लगभग 163 किला विस्फाटक सामग्री क साथ मुकामी पुलिस न तीन लोगों का गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों में स एक जम्मू-कश्मीर का रहने वाला है और विस्फाटक व ड्रिलिंग विशषज्ञ बताया जा रहा है। बाकी दा आरोपी हरियाणा क हैं। सूरत के पुलिस कमिश्नर आर. एम. एस. बरार ने बताया कि बरामद बमों में इलेक्िट्रकल सर्किट डिवाइस थे और घड़ी वाले टाइमर नहीं लगाए गए थे। वराछा रोड इलाके से जिस व्यक्ित ने पुलिस कंट्रोल रूम को सबसे पहले फोन पर बम होने की जानकारी दी थी उसकी तलाश की जा रही है और उससे पूछताछ के बाद ही स्थिति और स्पष्ट होगी। उन्होंने किसी संदिग्ध वस्तु के बार में पुलिस को जानकारी देने की जनता से अपील की है। सुबह साढ़े नौ बजे से बमों के मिलने का सिलसिला शुरू हुआ। मिनी डायमंड एरिया, लाबेश्वर, संतोषीनगर, मातावड़ी , वराछा-कपोडरा फ्लाई ओवर, सरदार चौक और कतरगाम इलाके से ताबड़तोड़ जीवित बम मिलने की खबरें आती रहीं। बमों के मिलने का सिलसिला भी बड़ा विचित्र था। मातावड़ी इलाके में तो एक बम पेड़ से लटका हुआ पाया गया। इसी तरह लाबेश्वर क्षेत्र में अज्ञात बैग से एक बम मिला। वराछा रोड इलाके में एक बम होडिर्ंग से बंधा मिला। सूरत डायमंड एसोसिएशन के प्रमुख सी पी वनानी ने बताया कि हीरा कारोबार वाले वराछा रोड से बमों के मिलने से काफी चिंता में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सूरत में बम गिनते बीता दिनदहशतजदा हुई डायमंड सिटी