DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दर्दभरा अफसाना

भारतीय जनता पार्टी के कट्टर से कट्टर आलोचकों को भी अब उससे सहानुभूति हो सकती है। फिलहाल उनकी स्थिति मनोज कुमार या राजेन्द्र कुमार की फिल्मों के नायकों की तरह है। उन्होंने कुछ नहीं किया, जो कुछ किया खलनायक प्राण ने किया और नायक अब एक दर्दभरा गीत गा रहा है। आप देखिए, भाजपा ने कुछ नहीं किया, उसने सिर्फ सत्ता पाने की आकांक्षा मन ही मन पाले रखी, और यह कोई अपराध नहीं है। जसे मनोज कुमार या राजेन्द्र कुमार की फिल्मों में नायक मन ही मन नायिका से प्रेम करता है वैसा ही भाजपा वाले सत्ता से प्रेम करते रहे। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि भाजपा मन ही मन प्रेम करने वाली पार्टी नहीं है लेकिन उसने सोच रखा था कि चुनाव करीब ही हैं, सो यादा शोर मचाकर क्या हो जाएगा। वे चुप थे, मन ही मन सत्ता की कामना किए हुए। तभी वामपंथियों को सरकार से समर्थन वापस लेने का आइडिया आया। इसमें भाजपा का क्या कसूर। चूंकि वे शुरू से ही परमाणु समझौते का विरोध करते रहे इसलिए उन्हें विश्वास प्रस्ताव के खिलाफ वोट देना ही था, इसमें भी उनका कोई कसूर नहीं है। सरकार को विश्वासमत मिल गया, वामपंथियों का भी जो होना था हुआ, लेकिन उनके सांसद तो नहीं टूटे। भाजपा को क्या मिला, विश्वास प्रस्ताव पर मतदान में हार, साथ में सांसद और टूट गए, जिससे दुनिया में मजाक बन गया। हमारे यहां कहते हैं- कुछ खाया न पिया, गिलास तोड़ा आठ आने। उनके सांसद करोड़ों रुपए के बंडल संसद में ले आए इससे सत्ताधारी पक्ष का जितना मखौल बना उतना ही भाजपा का भी। दरअसल भाजपा की समस्या यह है कि उसके बहुत सारे उसूल हैं, वहा एक आदर्शवादी पार्टी है, मनोज कुमार की तरह। बहुत सारे आदर्शो वाले लोगों और पार्टियों के साथ दिक्कत यह है कि वे आदर्शो के प्रति लापरवाह हो जाते हैं, कि अपने बहुत सारे उसूल हैं, एक-दो उसूल छोड़ भी दिए तो कोई फर्क नहीं पड़ता। एक दिन अचानक पता चलता है कि आदर्शो के खाते में कुछ नहीं बचा और चेक बाउंस हो गया। भाजपा की समस्या यह है कि वह दर्शा रही है कि उसके आदर्शो का खाता समृद्धि से लबालब है और हाल यह है उससे दो रुपए का चेक भी बाउंस हो जाता है। इसलिए भाजपा एक दर्द भरा गीत बन गई है। अच्छा यह हो कि वह एक दो ही उसूल पाले, लेकिन उन्हें संभाल कर रखे, वक्त जरूरत पर काम आएंगे। कम से कम उनसे लाज तो बची रहेगी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दर्दभरा अफसाना