अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका के साथ एटमी करार को बेकरार पाक

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने अमेरिका से मांग की है कि वह भारत की तरह की पाकिस्तान के साथ भी परमाणु करार करे। उन्होंने वादा किया कि परमाणु वैज्ञानिक ए. क्यू. खान का प्रसार नेटवर्क तोड़ दिया गया है और भविष्य में इस तरह की घटना दोबारा नहीं होगी। गिलानी ने कहा, ‘करार के मामले में किसी तरह की वरीयता या भेदभाव नहीं करना चाहिए। अगर वे भारत को नागरिक परमाणु दर्जा देना चाहते हैं तो हम पाक के लिए भी ऐसी ही अपेक्षा करेंगे।’ उत्तरी कोरिया, ईरान और लीबिया को गैरकानूनी ढंग से परमाणु तकनीक हस्तांतरित करने वाले पाक वैज्ञानिक डा खान के बारे में पूछे जाने पर गिलानी ने कहा कि खान चैप्टर अब खत्म हो चुका है। उन्होंने कहा कि नई पाक सरकार भारत के साथ अच्छे रिश्ते बनाना चाहती है और इस दिशा में काम शुरू कर दिया गया है। कश्मीर जसे मसलों को सुलझाने के लिए कोशिश की जा रही है।इस बीच, भारत-अमेरिका करार को अमलीजामा पहनाने की दिशा में प्रगति से बौखलाए पाकिस्तानियों ने अपनी ही सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है। पाक के चार पूर्व विदेश सचिवों और एक पूर्व विदेश मंत्री सहित 30 वरिष्ठ हस्तियों ने आईएईए बोर्ड के सदस्यों को लिखे एक खुले पत्र में अपनी सरकार पर अमेरिकी दबाव के आगे झुकने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि करार पर अपनी आपत्तियां वापस लेने के पाकिस्तान सरकार के फैसले से उन्हें गहरा सदमा पहुंचा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अमेरिका के साथ एटमी करार को बेकरार पाक