DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काले धन पर गर्म हुआ चुनावी माहौल

किसी राष्ट्रीय मु्द्दे के अभाव में अब विदेशों में जमा काला धन ही केंद्रीय मु्द्दे की शक्ल अख्तियार करता जा रहा है। इस पर सियासत तेज हो गई है। अब कांग्रेस ने भी कहना शुरू कर दिया है कि वह विदेशी बैंकों में जमा काले धन को वापस लाने के लिए कार्रवाई शुरू कर चुकी है। कांग्रेस ने कहा है कि बार बार इस मुद्दे को उठाकर भाजपा शायद उन लोगों को सतर्क कर रही है जिनका धन इन बैंकों में जमा है। कांग्रेस प्रवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि भाजपा इस मामले में गंभीर नहीं है, वह सिर्फ चुनावी राजनीति कर रही है। इस धन को देश में वापस लाने के लिए वह इतनी ही चिंतित थी तो एनडीए सरकार ने फेरा कानून क्यों समाप्त किया। अब भी उसकी चिंता झूठी है क्योंकि अपने घोषणापत्र में उसने यह नहीं कहा है कि सरकार बनाने पर वह कि फेरा कानून को पुनर्जीवित करगी। इससे साफ है कि वह लोगों को भ्रमित कर रही है। उधर, गृहमंत्री पी चिदंबरम ने भी भाजपा के काले धन को 100 दिन में वापस लाने की योजना भ्रम करार दिया है। आडवाणी यह बात बार बार उठाकर स्थिति को खराब कर रहे हैं। चिदंबरम ने कहा कि इस संबंध में जर्मन सेंट्रल टैक्स आफिस ने कुछ प्रक्रियात्मक औपचारिकताएं पूरी करने को कहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: काले धन पर गर्म हुआ चुनावी माहौल