DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माइक्रो चिप्स थे बमों में

आतंकियों ने विस्फोट की अपनी रणनीति में अहम बदलाव किया है। अब वे बमों में टाइमर की बजाय माइक्रो चिप्स का इस्तेमाल करने लगे हैं। सूत्रों के अनुसार हीरा नगरी क रूप मं प्रसिद्ध सूरत मं पिछले तीन तीनों से मिल रहे एक के एक बम की पड़ताल से इस बात का खुलासा हुआ है। पुलिस सूत्रों के अनुसार सूरत से बरामद बमों में टाइमर की बजाय माइक्रो चिप्स का इस्तेमाल किया गया था। इसका आतंकियों को लाभ यह है कि और इससे चार महीने बाद भी धमाका किया जा सकता है। उधर सूरत में जिंदा बमां क मिलन का सिलसिला जारी है। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे के ठीक बाद शहर क वराछा राड क करीब भालश्वर इलाक मं बुधवार को पुलिस न एक और जिंदा बम बरामद किया, जिस बाद मं निष्क्रिय कर दिया गया। इस घटना के कुछ घंटे बाद ही सूरत के कोपोडरा चौपाटी पर एक और बम मिला। यह आम के पेड़ से लटका हुआ था। दोनों बमों में इलेक्िट्रक सर्किट लगाए गए थे और घड़ी वाले टाइमर नहीं थे।ड्ढr ड्ढr सूरत में यह 23वें जिंदा बम की बरामदगी है। मुख्यमंत्री क सूरत दौरे क मद्दनजर शहर मं सुरक्षा क पुख्ता इंतजाम हान क बावजूद बम मिलन स लागां मं दहशत का माहौल है। मंगलवार को शहर मं एक क बाद एक 18 बम मिलन स हड़कंप मच गया था। सूरत प्रशासन न सभी स्कूल, कॉलज, सिनमा घर, फ्लाइआवर व यहां तक कि पार्क भी बंद रखन क निर्दश हैं। हालांकि, सड॥कां पर ट्रैफिक आम दिनां की तरह ही रही, लकिन बाजारं सूनी पड़ी रहीं। मादी न आतंकवादियां का सुराग दन वालां का 51 लाख रुपए का इनाम दन का एलान किया है। शहर मं लगातार जिंदा बमां क मिलन क बाद सूरत दौरे पर आए मुख्यमंत्री न कहा कि बम की खबर दन पर भी 21 हजार रुपए का इनाम दिया जाएगा। उन्हांन साफ किया कि सुराग दन वालां का डरन की जरूरत नहीं है, क्यांकि उनका नाम गुप्त रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि बेंगलुरु, मुंबई, हैदराबाद, जयपुर, अहमदाबाद और सूरत जैसे शहरों को निशाना बनाकर आतंकवादी देश की अर्थव्यवस्था को पंगु बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि यह आतंकवाद नहीं है बल्कि छद्म युद्ध है।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कड़े कानून बनाने और उन्हें सख्ती से लागू करने की जरूरत पर जोर दिया। सूरत मं पिछल दिनां विस्फाटकां स लदी जा कारें बरामद की गई थीं, पुलिस का उनक सीसीटीवी फुटज मिल गए हैं। मुंबई स चारी हुई इन कारां की सीसीटीवी फुटज मुंबई क एटीएस का मिली हैं। बताया जा रहा है कि य कारें 8 और 15 जुलाई का नवी मुंबई स चारी हुई थीं। कारां क फुटज थाण क तलातारे नाक स बरामद की गई हैं, जिनक आधार पर कारां क ड्राइवरां की तलाश की जा रही है। दूसरी ओर कोलकाता में महत्वपूर्ण स्थानों पर बम धमाके करने संबंधी ई-मेल मामले में पुलिस ने बुधवार को साल्ट लेक कैफे में काम करने वाली एक महिला को गिरफ्तार कर लिया है। इससे एक दिन पहले इस मामले में ई-मेल भेजे जान के आरोप में पुलिस न कैफे के मालिक को गिरफ्तार कर लिया था। साइबर कैफे से एक टीवी चैनल को भेजे गए इस ई-मेल में कहा गया था कि शहर की महत्वपूर्ण इमारतों और अन्य ऐतिहासिक स्थलों को विस्फोट कर उड़ा दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: माइक्रो चिप्स थे बमों में