DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उग्र भीड़ ने ब्लॉक कर्मियों को पीटा

किरासन कूपन वितरण में व्याप्त कुव्यवस्था से नाराज मक्खाचक पंचायत के लोगों ने बुधवार को जमकर हंगामा किया। इस दौरान एक सौ अधिक महिला-पुरूषों के समूह ने प्रखंड कार्यालय पहुंचकर अधिकारियोंे एवं कर्मियों को निशाना बनाते हुए प्रखंड आपूर्ति अधिकारी कुमार विजय सिंह तथा प्रखंड कार्यालय के बाहर बड़ा बाबू के साथ्र मारपीट की तथा प्रशासन के खिलाफ नार लगाए।ड्ढr ड्ढr उधर सारण जिले के अमनौर में ग्रामीणों ने तीन सौ कूपन लूट लिए। इससे पूर्व बखरी प्रखंड कार्यालय में अचानक अफरातफरी मच गई किन्तु मौके पर थाना प्रभारी मनोज कुमार ने पहुंचकर मामले को शांत कराया। बताते हैं कि मक्खाचक में कूपन वितरण का कार्य बीते तीन दिनों से चल रहा है। वितरण कार्य में कुव्यवस्था से लोग नाराज थे। बुधवार को कूपन के लिए मक्खाचक के लोगों को उच्च विद्यालय बुलाया गया था किन्तु अधिकारी निर्धारित समय से तीन घंटा बाद भी वितरण स्थल पर नहीं पहुंचे। इससे लोगों ने धर्य खो दिया तथा वे जुलूस की शक्ल में नारबाजी करते हुए प्रखंड कार्यालय की ओर चल दिए। रास्ते में ही इनलोगों की मुलाकात कूपन बांटने जा रहे अधिकारियों से हो गई। ये लोग अधिकारियों के जीप को वापस प्रखंड कार्यालय ले गए और वहां गाड़ी से उतार कर उनपर प्रहार करने लगे। इधर एसडीओ मो. सलीम ने स्थिति को भांपते हुए जुलाई का किरासन बगैर कूपन के ही वितरण करने का आदेश डीलरों को दे दिया है।ड्ढr ड्ढr अमनौर की अपहर पंचायत भवन पर बुधवार को बड़ी संख्या में पहुंचे सलखुआ के ग्रामीणों ने करीब तीन सौ कूपन लूट लिए। मुखिया योगेन्द्र साह ने घटना की सूचना बीडीओ और एमओ को दी है। बताया जाता है कि मुखिया और पंचायत सचिव अनिल कुमार दास की उपस्थिति में शिक्षकों द्वारा कूपन बांटने का कार्य शुरू ही किया जा रहा था कि वहां पहुंचे कई ग्रामीणों ने बीपीएल व एपीएल सूची में नाम नहीं होने पर रोष जताते हुए नाम जोड़े जाने तक कूपन नहीं बांटने की हिदायत दी। फिर उनमें से आक्रोशित कुछ ग्रामीण कूपन से भर थैले लेकर भाग गए। समाचार प्रषण तक घटना की प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: उग्र भीड़ ने ब्लॉक कर्मियों को पीटा