DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों का आठ हचाार करोड़ कर्ज माफ

ेंद्र सरकार की किसानों के लिए ‘कर्ज माफी और कर्ज राहत स्कीम’ का प्रदेश के करीब 47.46 लाख किसानों का करीब 8010 करोड़ रुपया माफ किया गया है। प्रदेश के व्यावसायिक बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारी ग्राम्य विकास बैंकों, सहकारी बैंकों और प्राथमिक सहकारी समितियों से लिए गए कर्ज की माफी की योजना गत 30 जून को समाप्त हुई है। योजना के आँकड़े नाबार्ड और रिजर्व बैंक संकलित कर फाइनल कर पाए हैं।ड्ढr इसके पहले केंद्र सरकार ने वर्ष 1में देश भर में किसानों का कर्ज माफ किया था। उस समय वी.पी.सिंह प्रधानमंत्री थे। करीब 1साल बाद कर्ज से डूबे किसानों को राहत दी गई है। इस बार जिन लघु और सीमान्त किसानों ने एक अप्रैल 1से 31 मार्च 2007 के बीच फसली ऋण लिया था, उनका पूरा ऋण माफ किया गया है। इसके अलावा जिन किसानों ने एक लाख रुपए तक ‘अल्पकालिक उत्पादन ऋण’ लिया था और उन्हें 31 दिसम्बर 2007 तक किस्तों की अदायगी करनी थी लेकिन वे 2रवरी 2008 तक अदायगी नहीं कर पाए थे, उनका भी पूरा कर्ज माफ किया गया है।ड्ढr खास बात यह है कि जिन किसानों ने ईमानदारी से 2रवरी 2008 तक समय से कर्ज अदायगी की, उन्हें इस योजना से कोई राहत नहीं मिली है। जिन किसानों ने केवल महाजनों के कर्ज ले रखा है उन्हें भी कोई राहत नहीं मिली है। आपदा से प्रभावित छोटे किसानों द्वारा कड्रिट कार्ड पर लिया गया पूरा कर्ज भी माफ किया गया है। ट्रैक्टर और ट्यूब वेल आदि के लिए गए ‘निवेश ऋण’ के लिए एक मुश्त समाधान के तहत छोटे व बड़े किसानों को राहत दी गई है। योजना के तहत बकाए के 75 फीसदी राशि के भुगतान पर बाकी 25 फीसदी राशि की माफी की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: किसानों का आठ हचाार करोड़ कर्ज माफ