DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज से जमीन की नयी सरकारी दर

राजधानी के रािस्ट्री ऑफिस में 31 जुलाई को दिन भर जमीन की खरीद-बिक्री करनेवालों का तांता लगा रहा। हर व्यक्ित जल्द से जल्द रािस्ट्री कराने को बेताब था। वजह एक अगस्त से जमीन की नयी संशोधित सरकारी दर लागू होना। जमीन का मूल्य 25 से 35 फीसदी तक बढ़ेगा। यही कारण था कि जमीन खरीदने और बेचनेवाले 31 जुलाई तक रािस्ट्री करा लेना चाहते थे, ताकि अधिक स्टांप शुल्क न देना पड़ा।ड्ढr आज किस दर पर होगी जमीन की रािस्ट्री ?ड्ढr राजधानी में एक अगस्त को किस दर पर जमीन की रािस्ट्री की जायेगी, इसे लेकर 31 जुलाई की रात तक ऊहापोह की स्थिति थी। हालांकि अवर निबंधक सहदेव मेहरा का कहना है कि नयी दर से ही एक अगस्त से रािस्ट्री की जायेगी। उन्होंने अंतिम दिन गुरुवार को दूसर प्रहर अपर समाहर्ता को नयी दर की सूची सौंपी। अपर समाहर्ता ने इसमें व्याप्त विसंगतियों को दूर करने के लिए एलआरडीसी और टाउन सीओ को जिम्मेवारी सौंपी है। दोनों पदाधिकारियों का कहना है कि हर इलाके की जमीन की पुरानी और नयी दर का मिलान करने के बाद ही पता चल पायेगा कि इसमें कहां गड़बड़ी है। इसके बाद ही उपायुक्त हस्ताक्षर करंगे। अंतिम समय में सूची तैयार करने के कारण उपायुक्त का हस्ताक्षर नहीं हो पाया है। यही कारण है कि इसे लेकर देर रात तक ऊहापोह की स्थिति थी।ड्ढr उधर 30 जुलाई की रात 10 बजे तक रािस्ट्री हुई। देर रात तक मात्र 280 दस्तावेज ही निपटाये जा सके। शेष 45 दस्तावेजों की गुरुवार को रािस्ट्री की गयी। इसके अलावा नये 160 दस्तावेज जमा लिये गये, जिन्हें देर रात तक सलटाया गया। 2007 के जून तक राज्य भर में जमीन की रािस्ट्री से जहां 32 करोड़ के राजस्व की प्राप्ति हुई, वहीं जून 2008 तक 41 करोड़ के राजस्व की प्राप्ति हुई। एक साल में राजस्व में नौ करोड़ की वृद्धि हुई।ड्ढr इधर गुरुवार को विभागीय सचिव सुधीर कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में सीएमसी को दो माह में दुमका प्रमंडल के सभी छह जिलों दुमका, पाकुड़, साहेबगंज, देवघर, जामताड़ा और गोड्डा की रािस्ट्री ऑफिस का कंप्यूटरीकरण करने का निर्देश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आज से जमीन की नयी सरकारी दर