अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ई-मेल फ्रॉड ने इंजीनियर से ठगे पौने दो लाख

साइबर शातिरों ने राजधानी में भी अपने जाल फेंकने शुरू कर दिये हैं। ई मेल पर लाटरी विनर बता कर न्यू पाटलिपुत्र कॉलोनी के रहने वाले इंजीनियर मनोज कुमार सिंह को ठगों ने अपने जाल में फांसा। विगत 11 से 28 जुलाई तक जालसाजों ने ई मेल फ्रॉड के जरिए और मोबाइल पर संपर्क कर उससे दो बार में पौने दो लाख रुपये अपने खाते में डलवा लिये। फिर लॉटरी की रकम के लिए जब करीब पौने चार लाख रुपए की और मांग की तब मनोज को अपने ठगे जाने का संदेह हुआ। असलियत सामने आते ही उसके होश उड़ गए। मनोज ने गुरुवार की शाम पाटलिपुत्र थाने को इसकी सूचना दी। मनोज के अनुसार 11 जुलाई को एक ई मेल आया जिसमें उसकी मेल आईडी के आधार पर लॉटरी जीतने की जानकारी दी गई थी। मेल से ही पता और संपर्क नंबर भी लिया। फिर प्रोसेसिंग फी के तौर पर 75 हजार तथा वित्त मंत्रालय में देने के नाम पर एक लाख रुपए ठग लिए गये। फिर जब उससे 3.6लाख रुपये की और मांग की तब जाकर उसे संदेह हुआ।ड्ढr ड्ढr एनआईटी: कैंपस सेलेक्शन में पहली बार 8 छात्रों का चयनड्ढr पटना (हि.प्र.)। एनआईटी पटना में पहली बार इंडियन ऑयल कारपोरशन ने कैंपस चयन किया। तेल कंपनी द्वारा दो छात्रा समेत आठ छात्रों का चयन किया गया। अब एनआईटी में कॉरपोरट सेक्टर का आना शुरू हो गया है। ट्रेनिंग के दौरान छात्रों को 6.67 लाख रुपये का वार्षिक पैकेा दिया जाएगा। वहीं ट्रेनिंग के बाद उन्हें सालाना 7.40 लाख रुपए मिलेगा। चयनित छात्रों में मैकेनिकल विभाग के शशिरांन कुमार, मृणाल व प्रेमचंद कुमार, इलेक्िट्रकल विभाग के अरुण कुमार, नितेश रांन व सतीश गेर और सिविल विभाग की इंदु प्रियदर्शिनी व रानी कुमारी रही। ङ2004 में एनआईटी को मंजूरी मिलने के बाद यहां के छात्रों के दिन बहुर गए हैं। हर साल अच्छी-खासी तादाद में यहां के छात्र नामी कंपनियों में नौकरी के लिए जा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ई-मेल फ्रॉड ने इंजीनियर से ठगे पौने दो लाख