DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईएसआई के खिलाफ आरोप निराधार : गिलानी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री युसूफ रजा गिलानी ने कहा है कि देश की प्रमुख खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) पर आतंकवादियों के साथ संबंध होने के आरोप निराधार हैं। एक अमेरिकी अखबार को दिए साक्षात्कार में गिलानी ने कहा कि मैं इस बारे में पूरी तरह आश्वस्त हूं कि आईएसआई के आतंकवादियों के साथ किसी तरह की मिलीभगत नहीं है और न ही तालिबान के प्रति उसकी कोई सहानुभूति है। उन्होंने उम्मीद जताई कि ऐसे आरोपों से उठे विवाद का समाधान कर लिया जाएगा। प्रधानमंत्री ने आतंकवाद से मुकाबला करने की पाकिस्तान की प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि व्यापक शिक्षा और आर्थिक सहयोग ही तालिबान और अल कायदा का मुकाबला करने के लिए सबसे बढ़िया तरीका है। अफगानिस्तान और कबायली इलाकों में इस समस्या की मूल वजह गरीबी है, क्योंकि आतंकवादी अपने फायदे के लिए गरीबों का शोषण करते हैं। पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा क्षेत्र की समस्या के समाधान के लिए गिलानी ने आर्थिक विकास के साथ खुफिया तालमेल को भी जरूरी बताया। उन्होंने कहा कि यदि हम नाटो और अफगानिस्तान के साथ अधिक से अधिक खुफिया जानकारियों का आदान प्रदान करते हैं तो हमारे आतंकवादियों से निपटने में आसानी होगी। गिलानी बतौर प्रधानमंत्री अपनी पहली अमेरिकी यात्रा के बाद स्वदेश पहुंच गए हैं। चकलाला स्थित पाकिस्तानी वायु सेना के एयरबेस पर पाक अधिकृत कश्मीर और उत्तर क्षेत्र मामले के मंत्री कमर जमान कैरा, कानून मंत्री फारुक एच नईक, वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष जनरल तारिक मजीद, चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल अशफाक परवेज कियानी और कई वरिष्ठ अधिकारियों ने गिलानी की अगवानी की। गिलानी ने स्वदेश वापसी से पूर्व मैनचेस्टर हवाई अड्डे पर पत्रकारों से कहा कि अमरीकी राष्ट्रपति जार्ज बुश के साथ बातचीत में पाकिस्तान की संप्रभुता के मुद्दे पर विशेष जोर दिया गया और अमेरिकी नेतृत्व ने पाकिस्तान की संप्रभुता का समर्थन किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईएसआईपर आरोप निराधार : गिलानी