आपदा प्रबंधन से चाोड़ने की पहल लटकी - आपदा प्रबंधन से चाोड़ने की पहल लटकी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपदा प्रबंधन से चाोड़ने की पहल लटकी

भय सीमा पार से नहीं। हाल के दिनों में आंतरिक खतरों ने सुरक्षा व्यवस्था की कमर तोड़ दी है। ऐसे में नागरिक सुरक्षा संगठन की भूमिका अहम होोाती है। किसी त्रासदी के वक्त बिखर समाा कोोोड़ने और पीड़ितों की तत्काल मदद के लिए इस संगठन का इस्तेमाल हो सकता है। इसलिए घर-घर और मुहल्ले में सुरक्षा का नया और माबूत ढाँचा खड़ा करने के लिए नागरिक सुरक्षा संगठन के वालेन्टियरों को आपदा प्रबंधन सेोोड़ने कीोरूरत आ पड़ती है। इसी परिकल्पना को साकार करने की पहल केन्द्र सरकार ने की थी। अब इसका पता नहीं है।ोबकि लखनऊ में मास्टर ट्रेनर व वार्ड कमेटियाँ तैयार हो चुकी हैं। कई चरण में वालेन्टियरों को आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण भी दिया गया है।ड्ढr नेशनल डिसास्टर मैनेामेन्ट एथार्टी के सदस्य केएन सिंह की अध्यक्षता में गठित कमेटी ने आतंकी खतरों व आपदाओं के दृष्टिगत नागरिक सुरक्षा संगठन को आपदा प्रबंधन सेोोड़ेोाने की सिफारिश की थी। प्रदेश शासन द्वारा लागू राय आबदा प्रबंधन में भी नागरिक सुरक्षा संगठन की सहभागिता चिन्हित की गई है। प्रस्ताव के मुताबिक राय स्तर पर एसडीएमए (स्टेट डिसास्टर मैनेामेन्ट एथार्टी) वोिला स्तर पर डीडीएमए (डिस्ट्रिक डिसास्टर मैनेामेन्ट एथार्टी) बनाने की योना है। इस कड़ी में सिविल डिफिंस को कस्बे व गाँवों तक पहुँचाने की भी प्लानिंग है। डिप्टी चीफ वार्डन लखनऊ प्रमोद चौधरी बताते हैं कि दो साल में कई चरण में वालेन्टियरों को आपदा प्रबंधन की ट्रेनिंग दी गई है।ोिले में तीन हाार से यादा प्रशिक्षित वालेन्टियर मौाूद हैं।अब वालेन्टिरों को आपदा प्रबंधन की मुख्य धारा सेोोड़ेोाने कीोरूरत है। श्री चौधरी इसके लिए वालेन्यिरों की सुविधाओं व उत्साव वर्धन किएोाने के अहम पहलू पर भी विचार किएोाने परोोर देते हैं। वहीं डिप्टी कंट्रसेलर नागरिक सुरक्षा संगठन एससी मिश्रा का कहना है कि मास्टर ट्रेनर व वार्ड कमेटियाँ तैयार करने की दिशा में काम चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आपदा प्रबंधन से चाोड़ने की पहल लटकी