अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस-भाजपा के विरोध पर भाकपा कायम

ेन्द्र में अगली सरकार वाम दलों की बनन का विश्वास जताते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने गुरुवार को कहा कि वह न ता कांग्रेस नीत गठजोड़ को समर्थन देगी और न ही भाजपा को स्थिति का लाभ उठाने देगी। पार्टी के अनुसार यही पार्टी का रणनीतिक रुख है। भाकपा नेता डी राजा ने संवाददाताओं से कहा कि हमें विश्वास है कि हम वैकल्पिक सरकार बनान की स्थिति में होंगे। एक्िजट पोल को महज अनुमान बता कर खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि वास्ततिक स्थिति 16 मई को परिणाम आन के बाद ही साफ होगी जिसमें तीसरे विकल्प को जनादेश मिलेगा।ड्ढr ड्ढr भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार लालकृष्ण आडवाणी और अमेरिका के अधिकारी पीटर बरलीग के बीच बुधवार को हुई मुलाकात के बारे में राजा न कहा कि किसी बाहरी शक्ित को देश के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। राजा ने विश्वास जताया कि तीसरा मोर्चा बेहतर प्रदर्शन करेगा और उसकी भूमिका महत्वपूर्ण होगी। उन्होंने कहा कि इस बात की पूरी संभावना है कि मतगणना के बाद नए समीकरण बनेंगे। उन्होंने कहा कि राजनीतिक ताकतों के समीकरण बनना राजनीतिक प्रक्रिया है। ऐसी उम्मीद है कि हमारे साथ नई ताकतें जुड़ें़गी लकिन उन्होंने उनकी पहचान बतान से इंकार कर दिया।ड्ढr ड्ढr राजा ने कहा कि आप ये सब पार्टियों पर छोड़ दें। केरल में वाम दलों को झटका मिलन की संभावनाओं के बारे में राजा न कहा कि यह महज अटकलबाजी है। उन्होंने उल्टे सवाल किया झटके से आपका क्या आशय है। एक या दो सीटों का नुकसान कोई झटका नहीं होता। वामपंथी दलों की बैठक रविवार को होगी जिसमें चुनाव बाद के परिदृश्य का जायजा लिया जाएगा। इसके बाद चारों वाम दलों का निर्णय लेने वाली इकाइयों की बैठकों का दौर चलेगा। सोमवार को वाम दलों का बसपा, अन्नाद्रमुक, टीडीपी, बीजद और जदएस नेताओं के साथ बैठक होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कांग्रेस-भाजपा के विरोध पर भाकपा कायम