DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लाखों कांवरियों ने किया जलार्पण

विश्वप्रसिद्ध श्रावणी मेले के चौदहवें दिन शुक्रवार को लगभग एक लाख कांवरियों ने कामनालिंग बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण किया। पिछले पांच दिनों के बाद शुक्रवार पहला दिन था, जिस दिन कांवरियों की भीड़ बी.एड. कॉलेज के पांच पंडालों में ही सिमटकर रह गयी। कतारबद्ध कांवरियों को व्यवस्था के अनुसार बाबा बैद्यनाथ मंदिर में जलार्पण के लिये आगे बढ़ाया जा रहा था। पंडाल में कांवरियों की भीड़ लगातार जुटी रही। इधर मुजफ्फरपुर से भी लाखों कांवरिये सुल्तानगंज के लिए रवाना हो गए हैं । श्रावणी मेले के दौरान शुक्रवार को भी महिला कांवरियों की अच्छी खासी भीड़ की वहा से महिलाओं की कतार भी काफी समय तक चलती रही।ड्ढr ड्ढr महिला व पुरूष दोनों की भीड़ को नियंत्रित करने में प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारियों व कर्मियों को खासी मशक्कतों का सामना करना पड़ा। चौदहवें दिन बड़ी संख्या में डाक कांवरियों ने भी कामनालिंग बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण किया। डाक कांवरियों को प्रशासन के स्तर पर मंदिर में विशेष सुविधा भी मुहैया करायी गयी थी। भीड़ को नियंत्रित करने में जुटे तमाम अधिकारी-कर्मियों को काफी दिक्कतें भी समय-समय पर हुई। हालांकि कुछ कम भीड़ होने से अधिकारी-कर्मियों ने राहत की भी सांस ली। तपती गर्मी व बीच-बीच में बारिश की फुहारों के बीच कांवरिये कतार में अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे ।ड्ढr ड्ढr मुजफ्फरपुर से का.सं.के अनुसार बाबा गरीबनाथ धाम में शिवभक्ित की गंगा बह रही है। रलवे स्टेशन हो या बस स्टैंड, चप्पा-चप्पा गेरुआ रंग में रंग गया है। बोल-बम का नारा है बाबा एक सहारा है। तीसरी सोमवारी को जलाभिषेक के लिए शुक्रवार को उत्तर बिहार से लाखों कांवरिया पहलेजाघाट और सुल्तानगंज के लिए रवाना हुए। भीड़ को नियंत्रित करने के लिये उपायुक्त मस्तराम मीणा, पुलिस कप्तान मनोज कौशिक, बाबा मंदिर प्रभारी रामचन्द्र पासवान, नगरपालिका विशेष पदाधिकारी सतीश चन्द्रा आदि जुटे हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लाखों कांवरियों ने किया जलार्पण