class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रविवार को भी परीक्षा नहीं होने देंगे कर्मी

रविवार को विभिन्न बोर्डो की होनेवाली परीक्षाओं को भी बाधित करने का निर्णय हड़ताली विविकर्मियों ने लिया है। कर्मचारियों का कहना है कि कॉलेज के प्राचार्यो द्वारा कुछ कर्मचारियों को प्रलोभन देकर रविवार को ताला खुलवा दिया जाता है। अब इस पर रोक लगाई जाएगी। बिहार राज्य विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय कर्मचारी महासंघ अब आंदोलन को और तेज करने का निर्णय लिया है। 32 दिनों से जारी हड़ताल का कोई असर नहीं होता देख कर्मचारियों ने अब पूरी शैक्षणिक गतिविधि को ही ठप करने का निर्णय लिया गया है।ड्ढr ड्ढr कॉलेजों में रविवार को विभिन्न चयन बोर्ड या निजी संस्थानों की परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। इस दिन ऊपरी आमदनी होता देख कर्मचारी व कॉलेज प्रशासन मिलकर हड़ताल समाप्त करा देते हैं। अब यह कर्मचारियों की किरकिरी कराने लगा है। कहा जाने लगा है कि कर्मचारी जुगाड़ टेक्नोलॉजी में लगे रहते हैं और हड़ताल महा दिखावे के लिए है। इसके बाद कर्मचारियों ने तय कर लिया है कि किसी भी स्थिति में शैक्षणिक गतिविधियों को यहां पर चलने नहीं दिया जाएगा।ड्ढr हड़ताल का असर अब सातो दिन दिखेगा। इस संबंध में पटना विवि कॉलेज कर्मचारी संघ के उपाध्यक्ष मो. कैसर ने बताया कि साइंस कॉलेज में कुछ कर्मचारियों को मिलाकर प्राचार्य रविवार को कॉलेज खुलवाते हैं। इससे हमारा आंदोलन कमजोर हो रहा है और अब हम इस पर रोक लगाएंगे। साथ ही उच्च शिक्षण व्यवस्था को ठप कर अपनी मांगों को सरकार के सामने सख्ती से रखने की हमारी योजना है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रविवार को भी परीक्षा नहीं होने देंगे कर्मी