अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहरी मलिन बस्तियों की सूरत बदलेगी

ेन्द्र सरकार ने उत्तर प्रदेश की मलिन बस्तियों की कायाकल्प के लिए ढाई अरब रुपए की योना स्वीकृत की है। इस योना में सूबे के 13 शहरों की मलिन बस्तियों को पूरी तौर से सुधाराोाएगा। झोपड़ पट्टियों के स्थान पर अच्छे मकान बनाएोाएँगे।ड्ढr केन्द्र ने बेसिक सर्विसेा फार अरबन पुअर्स (बीएसयूपी) व इंटीग्रेटेड हाउसिंग एंड स्लम डेवलपमेंट प्रोग्राम (आईएचएसडीपी) के तहत प्रदेश सरकार द्वारा पेश किए गए प्रस्तावों को अपनी हरी झंडी दे दी है। स्वीकृत योना के मुताबिक प्रदेश के 13 शहरों की मलिन बस्तियों को पूरी तौर से विकसित कियाोाना है। बीएसयूपी स्कीम में दो अरब से यादा की योनाएँ स्वीकृत की गई हैं। आगरा में 52 करोड़ रुपए और 127 करोड़ रुपए की दो योनाएँ स्वीकृत हुई हैं। इसी प्रकार मेरठ में 23 करोड़ रुपए की योना पर भी केन्द्र सरकार ने मुहर लगा दी है। आईएचएसडीपी में तकरीबन 61 करोड़ रुपए की योना भारत सरकार ने स्वीकार की है। इस योना के तहत मथुरा में राया, छाता, नंदगाँव और गोकुल नगर पंचायत की मलिन बस्तियों को सुधाराोाएगा। मुाफ्फरनगर में बनक, बलरामपुर में पचपेड़वा, बुलंदशहर में खानपुर, छतारी और बगरासी की मलिन बस्तियों के विकास का काम होगा। बागपत में बसौत, सहारनपुर, संतकबीर नगर की हरीहरनगर मलिन बस्ती के विकास का काम करायाोाएगा।ड्ढr सूडा निदेशक चिंतामणि ने बताया कि नगर विकास सचिव नवनीत सहगल के साथ केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय में गत दिवस इन योनाओं को लेकर बैठक हुई। सूडा निदेशक ने बताया कि प्रदेश की मलिन बस्तियों के लिए पहली बार केन्द्र सरकार से इतनी बड़ी योनाएँ पास हुई हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शहरी मलिन बस्तियों की सूरत बदलेगी