अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मार्कशीट गड़बड़ है तो लीचिाए 33 नम्बर

आईटी कॉलेा में एमए अंग्रेाी की छात्रा कल्पना (बदला हुआ नाम) की मार्कशीट में उसे एक विषय में अनुपस्थित दिखाया गया थाोबकि उसने परीक्षा दी थी। उसने विवि के परीक्षा विभाग में काफी भागदौड़ करने के बाद अपनी उपस्थिति साबित कर दी। मगर उसे इस पेपर में सिर्फ 33 फीसदी अंक किए गएोबकि छात्रा का पेपर बहुत अच्छा हुआ था। अब विवि के अधिकारी कह रहे हैं कि इम्प्रूवमेंट का फार्म भर दो नंबर बढ़ोाएँगे। विवि के इस व्यवहार से छात्रा परशान है। यह तो एक बानगी है। विवि में पीाी में ही नहीं, बीए तृतीय वर्ष व बीकॉम द्वितीय वर्ष में भी ऐसे र्दानों छात्र हैंोिन्हें विवि ने पहले गड़बड़ मार्कशीट थमाई।ोब भागदौड़कर उन्होंने उसे सही करवाने का प्रयास किया तो 33 नंबर देकर पास कर दिया गया।ड्ढr परीक्षा विभाग की लापरवाही काड्ढr आलम यह है कि लोकप्रशासन विभाग से पीाी व डिप्लोमा करने वाले छात्रों की कापियाँ गुम हो गई थी। वह अभी हफ्ते भर पहले मिली हैं। अब कापियों की कोडिंग हो रही है और परीक्षकों के नाम तय किएोा रहे हैं।ड्ढr क्रिश्चियन कॉलेा में बीकॉम द्वितीय वर्ष के छात्र ने बताया कि उसे सेल्समैनशिप के पेपर में अनुपस्थित दिखाया गयाोब उसने अपनी उपस्थिति साबित कर दी तो उसे सिर्फ 33 अंक ही दिए गएोबकि बाकी विषयों में उसे 60 फीसदी से अधिक अंक मिले हैं। यही दशा डिग्री कॉलेाों व विवि के बीकॉम द्वितीय वर्ष के छात्रों की है। किसी को अनुपस्थित दिखाया गया है तो किसी के एक या दो विषय में पूर्णाक से अधिक प्राप्तांक चढ़ गए हैं। अब इसे सही करने के नाम पर यादातर 33 अंक ही पा रहे हैं। बीए तृतीय वर्ष में विवि की इस गड़बड़ी से कई छात्रों की डिविान बर्बाद हो गई। दूसरी ओर विवि में पीाी के कई कोर्सो के रिाल्ट न निकलने के कारण एमफिल व डिप्लोमा के कोर्सो की आवेदन तिथि को दूसरी बार बढ़ाया गया है। अब आवेदन फार्म पाँच अगस्त तक बेचेोाएँगे। परीक्षा परिणाम निकलने में हो रही देरी के कारण 14 अगस्त तक प्रवेश प्रक्रिया पूरी कर पाना मुश्किल है। हालाँकि विवि के कुलसचिव आरपी सिंह ने विवि व सभी कॉलेाों में दाखिले इस निर्धारित तिथि तक पूर करने के निर्देश दिए हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मार्कशीट गड़बड़ है तो लीचिाए 33 नम्बर