DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच विभागों ने योजना में शत-प्रतिशत राशि खर्च की

मार्च को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष 2008-0में पांच विभागों ने शत प्रतिशत राशि खर्च की है। सरकार ने 8015 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना में से 6783 करोड़ रुपये व्यय होने का दावा किया है। मार्च के अंतिम सप्ताह में करीब 2000 करोड़ रुपये की योजना खर्च के नाम पर ट्रेारी से निकासी हुई है। योजना उदव्यय का 85 फीसदी खर्च हुआ माना जा रहा है। ग्रामीण विकास, नागर विमानन, आवास, पर्यटन, ग्रामीण कार्य विभागों में इस बार राज्य योजना की लगभग पूरी राशि खर्च की गयी है। कृषि , शिक्षा, श्रम, योजना, पथ निर्माण, पंचायती राज, विज्ञान प्रावैधिकी, आइटी, समाज कल्याण विभाग भी 0 फीसदी से ऊपर खर्च किये हैं। 2008-0में खर्च की स्थितिड्ढr विभाग योजना बजट खर्चड्ढr शिक्षा 650 करोड़ 617 करोडड़्ढr आरइओ 280 करोड़ 276 करोडड़्ढr पथ निर्माण 580 करोड़ 543 करोडड़्ढr ग्रामीण विकास 6रोड़ 60 करोडड़्ढr नागर विमानन 100 करोड़ 100 करोडड़्ढr आवास 18.7 करोड़ 18.7 करोडड़्ढr पर्यटन 124 करोड़ 121 करोडड़्ढr नगर विकास351 करोड़ 341 करोडड़्ढr जल संसाधन 473 करोड़402 करोडड़्ढr पंचायती राज 423 करोड़3रोडड़्ढr समाज कल्याण 20 करोड़ 265 करोडड़्ढr कल्याण विभाग 286 करोड़ 255 करोड़

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पांच विभागों ने योजना में शत-प्रतिशत राशि खर्च की