DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंगाल में बंधक बने तीन मजदूरों को छुड़ाया

पश्चिम बंगाल के मालदह जिले में फिरौती के लिए बंधक बनाये गये तीन बिहारी मजदूरों को बरारी पुलिस ने छुड़ा लिया। बरारी के थाना प्रभारी अनिल यादव ने बताया कि तीन माह पूर्व कोढ़ा प्रखंड के तीनपनिया बेलाल चौक निवासी मो. जमशेद ने बरारी प्रखंड के लक्ष्मीपुर पंचायत के बड़ी भैंसदीरा गांव के रविंद्र मेहता उर्फ पलटा, राधे ऋषि एवं लक्ष्मण ऋषि उर्फ जंगली ऋषि सहित 17 मजदूरों को रुपये का लोभ देकर मजदूरी करने के लिए मो. जमरुल के हवाले कर दिया।ड्ढr जमरुल मजदूरों को पश्चिम बंगाल के मालदह जिले के समसी, फिरंगी मोड़, चांचल अपने घर लेकर चला गया। उन्होंने बताया कि मजदूरों को वहां काम पर लगाया।ड्ढr ड्ढr इसमें तीन मजदूरों रविंद्र, राधे एवं लक्ष्मण को जमरुल ने घर में एक माह तक बंद करके रखा। जमरूल ने तीनों मजदूरों के परिजनों से एक लाख पच्चास हाार रुपये फिरौती की मांग की। इस संबंध में मजदूर रविंद्र के पिता शिव प्रसाद मेहता ने बरारी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराकर अपराधियों के चंगुल से उनको बेटे को छुड़ाने की गुहार लगायी थी। घटना की प्राथमिकी दर्ज होने के बाद थानाध्यक्ष अपने सहयोगी अनि आईडी पासवान के साथ मालदह जिले के चांचल में जाकर छापामारी की। उन्होंने बताया कि छापामारी के बाद तीनों मजदूरों को अपराधी के चंगुल से छुड़ा लिया गया। थाना प्रभारी ने बताया कि बिचौलिया तीनपनिया बेलाल चौक निवासी मो. जमशेद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। बताया जाता है कि अपराधी जमरूल भागने में सफल हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बंगाल में बंधक बने तीन मजदूरों को छुड़ाया