DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगाई ने करा दी खाने-पीने में कटौती

महंगाई ने मध्यम आय वर्ग की जबान और पेट पर भी पहर लगा दिये हैं। हाल ही सात प्रतिशत से लगभग 12 फीसदी हो रही मुद्रास्फीति के कारण मध्यम आय वर्ग को होटल-रस्टोरंट में खाने के बजट में जबर्दस्त कटौती करनी पड़ी है। अब यह बजट पहले से लगभग आधा, 4प्रतिशत ही रह गया है, जबकि उच्च आय वर्ग के इन खर्चो पर महंगाई का कोई असर नहीं पड़ा है। यह एसोचैम के हालिया शोध के नतीजे हैं।ड्ढr शोध के अनुसार, महंगाई ने मध्यम आय वर्ग को फिल्मों और शॉपिंग से हाथ खींचने को मजबूर कर दिया और यहां तक कि घर के जरूरी सामान में भी कटौती-किफायत करने को मजबूर कर दिया है। लेकिन तंबाकू, सिगरट और पान मसाले पर वह अभी भी पहले जितना ही खर्च कर रहा है।ड्ढr जुलाई में देश भर में मध्यम और उच्च आय वर्ग के तीन हजार परिवारों पर यह शोध 25 दिन में पूरा किया गया। इसमें पाया गया कि पहले जहां मनोरंजन, शॉपिंग, बाहर खाना खाने पर हर महीने पांच से छह हाार रुपये तक खर्च हो जाने से भी मध्यम आय वर्ग को कोई फर्क नहीं पड़ता था वहीं अब कोशिश है कि यह कांटा किसी भी हाल में 2800 रुपये के पार न होने पाये। इतनी दिक्कतों के बाद भी ब्यूटी पार्लरों में मध्यम आय वर्ग की महिलाएं पहले की ही तरह नियमित रूप से जा रही हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महंगाई ने करा दी खाने-पीने में कटौती