DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड से कट सकता है एक केंद्रीय मंत्री का पत्ता

ेंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल झारखंड के दो मंत्रियों सुबोधकांत सहाय और डॉ रामेश्वर उरांव में से किसी एक का पत्ता कट सकता है। केंद्र में यूपीए सरकार को समर्थन के एवज में झामुमो को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह देने का कमिटमेंट है, लेकिन वहां फिलवक्त मंत्री के मात्र दो पद रिक्त हैं। फिलहाल केंद्र में 80 मंत्री हैं। नियम के अनुसार केंद्रीय कैबिनेट में 82 मंत्री हो सकते हैं।ड्ढr अगर समाजवादी पार्टी सरकार में शामिल होती है, तो उसके 30 सांसद के हिसाब से केंद्र में मंत्री के 12 पद पर उसका दावा बनता है। हालांकि सपा ने सरकार में शामिल होने के बार में अब तक कोई फैसला नहीं किया है। दूसरी तरफ झामुमो ने दो मंत्री के लिए दावेदारी पेश की है। एसे में कांग्रेस आलाकमान भारी उलझन में है। इन्हीं उलझनों की वजह से कांग्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी किसी से भेंट-मुलाकात नहीं कर रही हैं। शनिवार को कांग्रेस के चंद दिग्गज नेताओं को छोड़कर उन्होंने किसी से बातचीत नहीं की। रविवार को भी यही हाल रहा।ड्ढr दिल्ली में कैंप कर रहे झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरन लगातार सोनिया से मिलने को प्रयासरत हैं। सोनिया गांधी की परशानी है कि मंत्रिमंडल में खाली दोनों सीटें झामुमो को दे दी जायें, तो सपा की ओर से दावेदारी पेश होने पर और परशानी हो सकती है। अगर केंद्र में झामुमो को सिर्फ एक ही सीट मिलती है, तो गुरुाी ही मंत्री बनेंगे।ड्ढr हालांकि उनकी पार्टी के सांसद चाहते हैं कि गुरुाी सीएम बनें और दिल्ली में वे राज करं। झामुमो अगर एक कैबिनेट और एक राज्य मंत्री की मांग पर अडिग रहा तो कांग्रेस के चंद मंत्रियों को हटाया जा सकता है। ऐसी स्थिति में झारखंड से आनेवाले कांग्रेस के दो मंत्रियों में से एक का पत्ता कट सकता है। जानकार कहते हैं कि कांग्रेस यहां आदिवासियों को नाखुश नहीं करना चाहेगी, क्योंकि लोकसभा चुनाव नजदीक है। इसकी भनक कांग्रेसी मंत्रियों को भी लग गयी है, वे अलग से लाबिंग कर रहे हैं।ड्ढr प्रधानमंत्री विदेश दौर पर हैं। सोनिया गांधी उनके लौटने तक किसी दल के सुप्रीमो से मिलने के मूड में नहीं है। प्रधानमंत्री के लौटते ही सोनिया गांधी बीजिंग के लिए प्रस्थान कर जायेंगी। उनके लौटने तक प्रधानमंत्री को उन कांग्रेसी केंद्रीय मंत्रियों की सूची तैयार करने का होमवर्क दिया जायेगा, जिन्हें हटाकर दूसरों के लिए जगह बनायी जा सके।ड्ढr आज लालू से शिबूकी होगी बातचीतड्ढr दिल्ली में झारखंड की सियासत सोमवार से फिर गरमायेगी। झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरन और सांसद हेमलाल मुमरू दिल्ली में जमे हैं। संभव है कि सोमवार को कांग्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी और रलमंत्री लालू प्रसाद यादव से इनकी मुलाकात हो। लालू प्रसाद से सोरन की मुलाकात रविवार को ही होनी थी, लेकिन वह हरकिशन सिंह सुराीत की अंत्येष्टि में भाग लेने चले गये। झामुमो सांसद हेमलाल मुमरू की मानें तो चार अगस्त को सोनिया गांधी, प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के साथ संयुक्त बैठक भी हो सकती है। इसी में साफ होगा कि गुरुाी झारखंड के सीएम बनेंगे या केंद्र में मंत्री। हालांकि बैठक या मुलाकात का समय अभी तय नहीं।ड्ढr झामुमो सूत्रों का कहना है कि गुरुाी केंद्र में मंत्री की बजाय झारखंड का सीएम बनने पर जोर देंगे। इधर झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रदीप कुमार बलमुचू ने कहा है कि झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरन की मांग पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का फैसला ही अंतिम होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: झारखंड से कट सकता है एक केंद्रीय मंत्री का पत्ता