DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संजीव ने दाखिले के लिए अमर िंसंह का दिया पता

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने नोट के बदले वोटकांड को नया मोड़ देते हुए नोटों की अदला-बदली में अहम भूमिका निभाने वाले संजीव सक्सेना के खिलाफ एक लिखित सबूत सार्वजनिक किया जिसमें उसने अपने बेटे को एक कालेज में दाखिला दिलाने के लिए समाजवादी पार्टी (सपा) के महासचिव अमर सिंह के सरकारी आवास का पता दे रखा है। भाजपा महासचिव अरूण जेटली ने इस कांड में उनका नाम घसीटे जाने के बाद त्वरित प्रतिक्रिया में सोमवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में अमर िंसंह का बचाव करने के लिए केंद्रीय मंत्रियों लालू प्रसाद यादव और रामविलास पासवान को भी आड़े हाथों लिया और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से अपने मंत्रियों को इस पचड़े में नहीं पड़ने देने का आग्रह भी किया। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मंत्रियों ने अमर सिंह के साथ जेटली के खिलाफ सोमवार को एक सीडी जारी की थी। जेटली ने कहा कि भाजपा संजीव सक्सेना के खिलाफ इलेक्ट्रानिक-टेलीफोन पर अमर सिंह के साथ बातचीत का ब्यौरा इस कांड की जांच कर रही संसदीय समिति और मीडिया को उपलब्ध करा चुकी है। उन्होंने कहा कि इस मामले में लिखित सबूत की कमी थी, वह आज उसे भी मीडिया को जारी कर रहे हैं। उन्होंने संजीव सक्सेना द्वारा अपने बेटे के दयाल सिंह कालेज के दाखिले के फार्म की प्रति मीडिया को जारी की जिसमे उसने अपने कार्यालय का पता अमर सिंह के सरकारी आवास 27, लोदी एस्टेट, नई दिल्ली और अपना मोबाइल नंबर भी लिखा है। उन्होंने कहा कि यह वही मोबाइल फोन है जिसका मनमोहन सरकार के विश्वास मत के दिन 22 जुलाई को अमर सिंह और भाजपा के तीन सांसदों अशोक अर्गल, फग्गन सिंह कुलस्ते और महावीर भगोरा से बातचीत करने के लिए छह बार इस्तेमाल किया गया था। जेटली ने केंद्रीय मंत्रियों की उपस्थिति में अमर सिंह द्वारा सोमवार को जारी की गई सीडी को फर्जी करार देते हुए दावा किया कि सपा नेताआें की मिली भगत से भारतीय जनशक्ित पार्टी की नेता उमा भारती द्वारा जारी जो सीडी फर्जी साबित हो चुकी है सिंह ने उसी को आधार बनाकर एक डाक्यूमेंट्री बनाई है। उन्होंने कहा कि संजीव सक्सेना विश्वास मत के बाद से लापता है और सोमवार को अचानक उसके हवाले से सिंह ने बयान जारी कराया है कि उसने विश्वास मत से ठीक पहले बहुजन समाज पार्टी में शामिल हुए सपा नेता शाहिद सिद्दिकी के कहने पर उनसे जेटली नोट लेकर भाजपा सांसदों को दिए। उन्होंने कहा कि जो आदमी लापता हो और अमर सिंह की सीडी के जरिए प्रकट हो जाए उससे साफ है कि दोनों के बीच कितनी निकटता है। यह पूछे जाने पर कि क्या भाजपा इस कांड की सीबीआई जांच की मांग करेगी। जेटली ने कहा कि नरसिंह राव सरकार को बचाने के लिए झारखंड मुक्ित मोर्चा के सांसदों को दी गई रिश्वत के मामले में अदालत के फैसले से सहमत नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा अभी इस कांड में राजनीतिक लडाई लड़ रही है और आगे की कार्रवाई नतीजा आने के बाद तय की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संजीव ने दाखिले के लिए अमर िंसंह का दिया पता