अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एचइसी को मिला 742 करोड़ का कार्यादेश

अब तक सबसे बड़ा कार्यादेशड्ढr 30 महीने में राउरकेला में लगायेगा ओबीबीपी प्लांटड्ढr सेल से एचइसी को अब तक का सबसे बड़ा कार्यादेश मिला है। सेल के राउरकेला स्टील प्लांट से एचइसी को 742 करोड़ का कार्यादेश मिला है। राउरकेला में एचइसी को बेडिंग एंड ब्लेंडिंग प्लांट लगाना है। इसमें बेस ब्लेंडिंग की सुविधा रहेगी।ड्ढr एचइसी ने यह कार्यादेश एलएंडटी, एमबी इंजीनियरिंग कंपनी को पछाड़ते हुए प्राप्त किया है। एचइसी को एक साथ 742 करोड़ का पहली बार कार्यादेश मिला है। एचइसी को टर्न के आधार पर यह काम करना है।ड्ढr 30 महीने में एचइसी को काम पूरा कर इस प्लांट को चालू करना होगा। इसके पहले भी एचइसी ने राउरकेला में वर्ष 1में रॉ मेटेरियल हैंडलिंग प्लांट की स्थापना की है। एचइसी के कंपनी सेक्रेटरी अभय कंठ ने बताया कि एचइसी के लिए यह ऐतिहासिक कार्यादेश है। कंपनी वर्तमान में एनसीएल की निगाही में 135 करोड़ और भिलाई में 202 करोड़ का हैंडलिंग प्लांट लगा रही है। इस पूर प्लांट की डिााइन, इंजीनियरिंग, निर्माण, आपूर्ति का काम एचइसी को करना होगा।ड्ढr प्लांट में लगनेवाले उपकरणड्ढr राउरकेला में बनाये जानेवाले प्लांट में वैगन हैंडलिंग सिस्टम, क्रसिंग और स्क्रीनिंग उपकरण, यार्ड उपकरण लगाये जायेंगे। इसमें वैगन टिपलर, साइड आर्म चार्जर, एप्रोन फीडर्स भी लगाये जायेंगे।ड्ढr काम समय से किया जायेगाड्ढr एचइसी के सीएमडी जीके पिल्लई ने इस कार्यादेश को ऐतिहासिक बताया। यह सफलता एचइसी की समर्पित टीम के कारण मिली है। देश के विकास में एचइसी हमेशा उपयोगी रहेगा। उन्होंने कहा कि कंपनी समय पर काम पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एचइसी को मिला 742 करोड़ का कार्यादेश