अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रावणी मेला में उमड़ा आस्था का महासमुद्र

बाबाधाम में सावन की तीसरी सोमवारी पर कांवरियों का महासमुद्र उमड़ पड़ा। भारी भीड़ के बीच लगभग डेढ़ लाख कांवरियों ने बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण कर अपने तथा अपने परिवार की कुशलता की आशीष मांगी, जबकि हाारों कांवरिये कतार में ही अपनी बारी का इंतजार करते रह गये। कांवरियों की भीड़ का अंदाजा महा इससे लगाया जा सकता है कि कतार शुरू होने वाले स्थान बी.एड. कॉलेज के सभी पांच पंडाल कांवरियों से भर जाने के बाद उनकी कतार बढ़ते हुए नंदन पहाड़ एवं वहां से पुन: डी.डी.सी. आवास तक पहुंच गयी थी। लगभग दस किलोमीटर से अधिक लंबी कतार को नियंत्रित रखकर आगे बढ़ाते रहने में प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी-कर्मियों को नाकों चने चबाने पड़े। रिकॉर्ड भीड़ की वजह से कांवरियों को भी श्रावणी मेले की तीसरी सोमवारी के अवसर पर भारी परशानियों का सामना करना पड़ा। बेतरतीब भीड़ के कारण सोमवारी को लगभग हर समय तनाव की स्थिति बनी रही। कतारबद्ध कांवरियों की भीड़ बरमसिया चौक व बाबा बैद्यनाथ मंदिर प्रांगण में कई बार अनियंत्रित भी हो गयी। भीड़ को नियंत्रित करने के लिये पुलिस को बल प्रयोग भी करना पड़ा। इस क्रम में बरमसिया चौक पर कुछ कांवरिये जख्मी भी हुए। घायलों को इलाज के लिये सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं अत्यंत भीड़ के कारण बाबा मंदिर गर्भगृह में कई कांवरिये मूर्छित हो गये। मंदिर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में प्राथमिक इलाज कराने के बाद कई कांवरियों को बेहतर इलाज के लिये सदर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। भारी भीड़ एवं लंबी कतार को देखकर हाारों कांवरिया बाबा मंदिर प्रांगण में रखे जलपात्र में जल डालकर चलते बने। कुछ ने बाहर से ही बाबा को प्रणाम किया तो कुछ ने प्रांगण स्थित शिव मंदिरों में जलार्पण कर संतोष कर लिया तो कुछ बगैर जलार्पण किये ही लौट गये। सिर्फ कृष्णा बम को विशेष सुविधा दी जा सकी । हादसों में 2 कांवरियों की मौत देवघरदुमकाइचाक । देवघर-ासीडीह मुख्य पथ में सोमवार की रात डंफर की चपेट में आकर संजय राय उर्फ कारी राय नाम के कांवरिया की मौत हो गयी। वह बरौनी, बरियारपुर का रहने वाला था। बेंगाबाद, गिरिडीह के दिलीप कुमार (30) की मौत सोमवार को तालझारी में हुई सड़क दुर्घटना में हो गयी है। दूसर कांवरिया देव कुमार (30) गंभीर रूप से जख्मी हो गये है। दोनों कांवरिया मोटरसाइकिल में सवार थे जिनकी टक्कर एक ट्रक से हो गयी। उधर इचाक में एनएच सालपर्णी गेट से आगे तीखे मोड़ के पास सोमवार की सुबह बस के पलटने से 25 से अधिक कांवरिया घायल हो गये। ये लोग इचाक मोड़ से बराकर नदी जल लेने जा रहे थे। सभी घायल इचाक के हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्रावणी मेला में उमड़ा आस्था का महासमुद्र