DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करुणानिधि व बालू को फटकार

सेतुसमुद्रम परियोजना के समर्थन में तमिलनाडु बंद को लेकर अदालत की अवमानना नोटिस का जवाब न देने पर सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम़ करुणानिधि और केंद्रीय परिवहन मंत्री टी आर बालू को जमकर फटकार लगाई और उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करन की चेतावनी दी। न्यायाधीश बीएन अग्रवाल और न्यायाधीश जीएस सिंघवी ने हालांकि करुणानिधि, बालू, तमिलनाडु के मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक तथा दो अन्य को कारण बताओ नोटिस का जवाब देन के लिए चार सप्ताह की मोहलत और दे दी।ड्ढr ड्ढr गत वर्ष अक्टूबर के पहले सप्ताह में जारी कारण बताओ नोटिस का मुख्यमंत्री और अन्य द्वारा जवाब न दिए जान पर न्यायालय ने गंभीर चिंता जताई। न्यायालय ने करुणानिधि और बालू से पूछा कि आप किस तरह के इंसान हैं। क्या आप कानून से ऊपर हैं। क्या आप अदालत को भी निर्देशित करेंगे। न्यायालय ने इस मामले पर अगली सुनवाई की तिथि 22 सितंबर निर्धारित करते हुए सभी छह आरोपियों को जबावी हलफनामा पेश करने में हुई देरी पर स्पष्टीकरण देने को भी कहा। उच्चतम न्यायालय ने गत वर्ष 30 सितंबर को विशेष सुनवाई कर इन सभी आरोपियों को एक अक्टूबर को राज्यव्यापी बंद नहीं होने देने का निर्देश दिया था। आरोपियों ने राज्य में सामान्य जनजीवन को प्रभावित करने वालों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की और बंद सफल रहा। मुख्य सचिव एल के त्रिपाठी ने मीडिया के समक्ष स्वीकार किया था कि सड़कों पर बहुत कम सार्वजनिक वाहन उतरे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: करुणानिधि व बालू को फटकार