DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिबू को मंत्री बनाने की फिर चर्चा

विश्वास मत की नैय्या पार लगने के बाद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जल्द ही अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं, इस आशय की खबरं कांग्रेस व यूपीए के भीतर तेज हो रही हैं।ड्ढr झारखंड मुक्ित मोर्चा के अध्यक्ष शिबू सोरन को मंत्रिपद देने का वादा व दूरगामी राजनैतिक लक्ष्य के लिए समाजवादी पार्टी को केन्द्रीय मंत्रिमंडल में स्थान देने के बार में कांग्रेस के राजनीतिक प्रबंधक माथापच्ची कर रहे हैं। कोयला मंत्रालय चूंकि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह खुद देख रहे हैं इसलिए शिबू सोरन को उपकृत करने में कोई बड़ी दिक्कत नहीं है, लेकिन 33 सांसदों वाली सपा के कम से कम आधा दर्जन लोगों को कौन-कौन सा मंत्रालय दिया जाये, इस पर दांव चल रहे हैं। यूपीए के घटक दल कोई भी मंत्री पद छोड़ने को राजी नहीं है।जसे पासवान के पास दो मंत्रालय व चार सांसद हैं लेकिन वे सपा के लिए एक मंत्रालय नहीं छोड़ेंगे। रास्ता निकाला जा रहा है कि कांग्रेस के कुछ मंत्री पद छोड़ें और चुनाव तक संगठन में रहें। इनमें शकील अहमद, पृथ्वीराज चौहान, नारायण स्वामी और अजय माकन के नाम लिए जा रहे हैं, जिन्हें संगठन और आम चुनाव की जिम्मेदारी दिए जाने पर विचार हो रहा है। सूत्रों के मुताबिक कुछ कैबिनेट मंत्रियों ने स्वेच्छा से पद छोड़ने की इच्छा भी जाहिर की है। लेकिन इस बार में अंतिम फैसला सोनिया गांधी व मनमोहन सिंह ही करंगे।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिबू को मंत्री बनाने की फिर चर्चा