DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आठ जिलों में 9 से 11 अगस्त तक सावन महोत्सव

बुनकरों और हस्तशिल्पियों के उत्पादों की बिक्री और प्रदर्शनी के लिए सरकार राज्य के आठ जिलों में नौ से 11 अगस्त तक सावन महोत्सव का आयोजन कर रही है। रांची, रामगढ़, जमशेदपुर, मेदिनीनगर, हजारीबाग, गिरिडीह, बोकारो और धनबाद जिले में आयोजित हो रहे इस उत्सव में प्रदर्शित किये जानेवाले उत्पादों पर 20 से 40 फीसदी तक की छूट दी जायेगी। यह जानकारी उप मुख्यमंत्री सुधीर महतो ने मंगलवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में दी। महतो ने कहा कि राज्य के हस्तशिल्पियों द्वारा उत्पादित सामग्रियों की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली सहित देश के कई भागों में स्टॉल लगाये गये। दिल्ली स्थित राजीव गांधी हस्तशिल्प केंद्र में बने स्टॉल पर बिक्री भी शुरू कर दी गयी है। बीकाजी कामा कंप्लेक्स प्रगति मैदान में जल्द ही झारक्राफ्ट का इंपोरियम शुरू किया जायेगा। हस्तकरघा विकास के लिए बनायी गयी क्लस्टर डेवलपमेंट योजना की जानकारी देते हुए श्री महतो ने बताया कि इससे 500 बुनकर लाभान्वित होंगे। इरबा, सीठियो, उरुगुटू- रांची, खूंटी, बहरागोड़ा- पू. सिंहभूम, पोखरी कला- लातेहार, सरैयाहाट- दुमका, भगैया जियाजोरी-गोड्डा और मंडरो- साहेबगंज को क्लस्टर बनाया गया है। इसके अलावा छोटानागपुर की 50 और संथालपरगना की 15 प्राथमिक बुनकर सहयोग समितियों को पुनर्जीवित करने की योजना है। महतो ने दावा किया कि राज्य तसर उत्पादन में देश में अग्रणी बन गया है। लगभग 65 हजार तसर कृषक उत्पादन से जुड़े हुए हैं। प्रेस कांफ्रेंस में झारखंड राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष जयनंदू और हस्तकरघा निदेशक धीरंद्र कुमार भी उपस्थित थे। 23 हजार बुनकरों का बीमा रांची। डिप्टी सीएम सुधीर महतो ने बताया कि बुनकर स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत 23 हजार बुनकरों का बीमा कराया गया। इसमें बुनकरों का अंशदान 50 रु., राज्य सरकार का 0 रु. और केंद्र का 761 रु. है। एक वर्ष में 15 हजार की नि:शुल्क चिकित्सा हर बुनकर परिवार को मिल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आठ जिलों में 9 से 11 अगस्त तक सावन महोत्सव