अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पढ़ाई के बदले छात्रों को मिलीं लाठियां

विश्वविद्यालय व कॉलेजों में लगभग दो माह से ठप पढ़ाई को शुरू कराने की मांग लेकर शिक्षामंत्री से मिलने गए छात्रों पर जमकर लाठियां बरसायी गयी। शिक्षामंत्री के समर्थक व अंगरक्षकों ने शिक्षामंत्री आवास के गेट पर प्रदर्शन कर रहे छात्रों को दौड़ा-दौड़ा कर लाठी व डंडों से पिटाई की। इसमें छात्र नेता उमाशंकर भारती व राजेश सिन्हा के बायें हाथ में गंभीर चोट आयी है। उनको इलाज के लिए पहले गार्डिनर रोड अस्पताल फिर पीएमसीएच भेजा गया। इसके अलावा लगभग दर्जन भर छात्रों को भी चोटें आयी हैं। बढ़ते हंगामे की सूचना मिलते ही पुलिस यहां पहुंची और आधा दर्जन छात्रों को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाली थाना में शिक्षामंत्री आवास पर हंगामा करने के आरोप में चार नामजद व दस अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है।ड्ढr ड्ढr इसकी पुष्टि थाना के अपर थाना प्रभारी दिनेशचद्र श्रीवास्तव ने की। छात्रों पर हमले के विरोध में राज्य भर में बुधवार को एबीवीपी के कार्यकर्ता काला दिवस मनाएंगे। मंगलवार सुबह आठ बजे एबीवीपी के लगभग 50 कार्यकर्ता शिक्षामंत्री के समक्ष अपनी मांग पत्र के साथ पहुंच थे । छात्रों का हुाूम देखते ही शिक्षामंत्री के आवास का गेट बंद कर दिया गया। छात्र वहीं धरने पर बैठ गए। इसके बाद भीतर से एक कार्यकर्ता संदेश लेकर आया कि मंत्री आज छात्रों से नहीं मिल पाएंगे। इसके बाद छात्रों ने शिक्षामंत्री के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया और उनके खिलाफ नारबाजी करने लगे। छात्रों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए आवास के भीतर से लगभग डेढ़ दर्जन की संख्या में मंत्री के समर्थक व अंगरक्षक लाठी-डंडा लेकर निकले और छात्रों पर भांजना शुरू कर दिया।ड्ढr ड्ढr इस अप्रत्याशित हमले को देखते हुए छात्रों में भगदड़ मच गयी। इसके बाद मंत्री समर्थकों ने छात्रों पर ईंट-पत्थरों की भी बौछार कर दी। इसके बाद उग्र छात्रों ने भी रोड़ेबाजी शुरू कर दी। इसमें लगभग दर्जन भर छात्रों को चोटें आयीं। पीएमसीएच में घायलों का इलाज चल रहा है। बाद में शिक्षा मंत्री हरिनारायण सिंह ने कहा कि मेरी जान पर खतरा है। यह प्रदर्शन कर्मचारियों द्वारा प्रायोजित था। उन्होंने मुख्यमंत्री की बात को दोहराया कि विश्वविद्यालय को राज्य सरकार ग्रांट देती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पढ़ाई के बदले छात्रों को मिलीं लाठियां