अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

30 लाख और ईपीक बनाने की तैयारी

राज्य में करीब 30 लाख और फोटो मतदाता पहचान पत्र (ईपीक) बनाने की तैयारी चल रही है। इसके लिए नया साफ्टवेयर भी तैयार किया गया है। चुनाव आयोग की कोशिश है कि अगले चुनाव तक सभी मतदाताओं को ईपीक उपलब्ध करा दिया जाए। पिछले दिनों बिहार दौर पर आए मुख्य चुनाव आयुक्त एन.गोपालास्वामी ने बिहार में फोटो पहचान पत्र (ईपीक) बनाने की गति को काफी धीमा बताया था। नए परिसीमन के आधार पर राज्य में करीब 5 करोड़ 35 लाख मतदाता हो गए हैं जिन्हें ईपीक उपलब्ध कराने की चुनौती है। अभी तक राज्य में करीब 60 प्रतिशत ईपीक ही बन पाए हैं। बाकी को अभियान चलाकर पूरा करने का निर्देश दिया गया है।ड्ढr ड्ढr इसी क्रम में सभी 38 जिलों में उन मतदाताओं के फोटो एकत्र किए गए हैं जिनके पास ईपीक नही है। निर्वाचन विभाग के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार एक जिले में औसतन 1 लाख मतदाताओं ने अपने फोटो जमा कराए हैं। गया जिले में सबसे अधिक एक लाख से अधिक फोटो प्राप्त हुए हैं। अगले दो-चार दिनों में उनकी ईपीक बनाने की प्रक्रिया शुरू होगी। नए सिर से ईपीक के लिए फोटो खिंचवाने की प्रक्रिया 15 सितम्बर के बाद शुरू होगी। 15 सितम्बर को ही फोटोयुक्त मतदाता सूची का प्रकाशन होना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 30 लाख और ईपीक बनाने की तैयारी