DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उग्रवादियों ने मचाया तांडव

माओवादियों ने उत्तरी छोटानागपुर बंद के दौरान बुधवार की देर रात से गुरुवार तक धनबाद और गिरिडीह जिले में जमकर तांडव मचाया। बुधवार की रात 10.30 बजे 100 से अधिक सशस्त्र माओवादियों ने जो फौाी वर्दी पहने हुए थे तोपचांची में लगी देश में प्रथम प्रधानमंत्री पं जवाहरलाल नेहरू की आदमकद प्रतिमा को चूर-चूरकर दिया। इन लोगों ने तोपचांची झील के आसपास के पूर इलाके को अपने कब्जे में कर लिया था। गिरिडीह जिले के निमियाघाट और पीरटांड़ में भी तांडव मचाया। पीरटांड़ थाना क्षेत्र के पालगंज में एक मारूति कार जला दी। निमियाघाट के रांगामाटी में बुधवार की रात 12 बजे पुलिस की बुलेट प्रूफ गश्ती वाहन पर गोलियां की बौछार की। माओवादियों द्वारा की गयी फायिरग में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। इधर बरकाकाना-गोमो सीआसी रलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बंद रहा। बेरमो कार्यालय के अनुसार बंद के कारण कोल ट्रांसपोर्टिग ठप रही। यात्री बसों का आवागमन प्रभावित रहा। जानकारी के अनुसार बुधवार की रात सशस्त्र नक्सलियों ने पहले माडा के सुरक्षा गार्ड निसार अहमद, मोहन महतो, खलासी अजरुन ठाकुर एवं बिन्दा महतो को अपने कब्जे में ले लिया। झील परिसर की सुरक्षा डय़ूटी में गए इन चारों कर्मियों से उनके नाम पूछे और फिर पहाड़ी के किनार सिर झुकाकर चुपचाप बैठने का निर्देश दिया। उसके बाद नक्सलियों ने बड़ा हथौड़ा लाकर झील के समीप लगी पंडित नेहरू की संगमरमर की बनी आदमकद प्रतिमा को तोड़ने लगे। अन्य नक्सली इलाके में पोस्टर साटने में व्यस्त थे। इसके अलावा जीटी रोड के किनार लगे ग्रिल पर, अंबाडीह, ध्वजाटांड़ में भी भारी पैमाने पर पोस्टर चिपका दिए। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: उग्रवादियों ने मचाया तांडव