अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

3 वरीय अफसरों की अनुपस्थिति का मामला छाया रहा

पथ निर्माण विभाग के संवाददाता सम्मेलन में मंत्री समेत तीन वरीय अधिकारियों की अनुपस्थिति का मामला छाया रहा। इस संदर्भ में पत्रकारों के सवाल पर सूचना एवं जनसंपर्क विभाग (पीआरडी) के एक अधिकारी ने पहले तो अनुपस्थित अधिकारियों के बार में पूछने से मना किया। फिर यह कहकर पल्ला झाड़ने की कोशिश की कि समाचार माध्यमों से ही पता चला है कि विभाग के प्रधान सचिव सूबे से बाहर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अधिकारी के तबादले से विभाग की कार्यवाही पर फर्क नहीं पड़ता है। ऐसी स्थिति में जो अधिकारी उपस्थित हैं उन्हीं से वार्ता होनी चाहिए।ड्ढr ड्ढr दरअसल विभागों के संवाददाता सम्मेलन में मंत्री या विभाग के प्रधान सचिव अथवा दोनों अनिवार्य रूप से उपस्थित रहते हैं। पर महीनों बाद पथ निर्माण विभाग के संवाददाता सम्मेलन में न तो मंत्री प्रेम कुमार उपस्थित थे और न ही विभागीय प्रधान सचिव आरके सिंह। यहां तक कि सूबे की सड॥कों और पुलों की बढ़ी जिम्मेवारी उठाने वाले राज्य पुल निर्माण निगम के अध्यक्ष प्रत्यय अमृत भी अनुपस्थित थे। जो अधिकारी उपस्थित थे उन्हें या तो विभाग की दैनिक कार्यवाही की जानकारी नहीं थी या वे सही जानकारी देने से बच रहे थे। पूर संवाददाता सम्मेलन के दौरान वहां उपस्थित विभाग के सबसे बड़े अधिकारी सचिव एस. शिव कुमार पत्रकारों द्वारा उठाये गये सवालों को नोट करते रहे। हालांकि इस अवसर पर विभाग के अभियंता प्रमुख किशोर रंजन सिन्हा, पुल निर्माण निगम के प्रबंध निदेशक एके झा, मानीटरिंग के कार्यपालक अभियंता आनन्द किशोर प्रसाद, ओएसडी सुनील कुमार और कार्यपालक अभियंता चन्द्रशेखर उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 3 वरीय अफसरों की अनुपस्थिति का मामला छाया रहा