अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मूसलधार बारिश से नदियों में उफान

बीते दो दिनों में हुई मूसलाधार बारिश ने फिर से उत्तर बिहार की नदियों में उफान भर दी है। नतीजतन, बाढ़-कटाव का खतरा उन इलाकों में पुन: बढ़ चला है जहां हाल में हीं पानी से हो रही तबाही का दौर थमा था। मिथिलांचल में बागमती खतरे के निशान को पार कर गयी है, वहीं चम्पारण में गंडक पुराना रूख अख्तियार करने की ओर बढ़ रही है। अफरातफरी के आलम में बाढ़ प्रभावित इलाकों के लोग सुरक्षित ठिकाना ढ़ूढ़ने लगे हैं। पटना से हि.ब्यू. के अनुसार उत्तर बिहार की नदियों के जलस्तर में वृद्धि और उनके लगातार लाल निशान से ऊपर बहने के कारण रल प्रशासन ने अपने ट्रैक की सुरक्षा निगरानी बढ़ा दी है।ड्ढr ड्ढr उत्तर बिहार की लगभग एक दर्जन नदियां खतर के निशान से ऊपर बह रही हैं। हालांकि कई इलाकों में नदियों के जलस्तर में गिरावट भी हो रही है, लेकिन रल प्रशासन सुरक्षा को लेकर किसी तरह की कोताही नहीं बरतना चाहता। गत वर्ष अत्यधिक वर्षा के कारण कई रलखंड प्रभावित हुए थे और कई जगहों पर ट्रैक के ऊपर पानी पहुंच गया था। पूर्व मध्य रलवे के अधिकारी के अनुसार दरभंगा-समस्तीपुर रलखंड के अलावा समस्तीपुर-रक्सौल, दरभंगा-सीतामढ़ी, समस्तीपुर-सुगौली-बगहा, दरभंगा-सकरी-झंझारपुर, दरभंगा-जयनगर, सहरसा-बनमनखी-पूर्णिया आदि रलखंडों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इन जगहों पर परिचालन के बाधित होने का खतरा रहता है। ड्ढr सामूहिक शवयात्रा के बाद अंत्येष्टिड्ढr भभुआ (हि.सं.)। पश्चिम बंगाल में सड़क दुर्घटना में मर कांवरियों के शव पहुंचते ही महिला-पुरूषों की थमी अश्रुधारा और रूलाई चित्कार में बदल गई। गांव में पहले से ही शवों को देखने के लिए हाारों ग्रामीणों की भीड़ जुटी थी। मातमपुर्सी के लिए जनप्रतिनिधियों का भी आना-ााना लगा रहा। सभी सातों की शव यात्रा एक साथ निकली और गांव से पश्चिम स्थित श्मशान घाट पर एक साथ चिता जलाई गई। शव के उपर गरूआ रंग का चादर डाला गया था। पांच मृतकों के घर के मुखिया ब्रह्मदेव सिंह की हालत चिंता से दयनीय बनी थी। लोग उन्हें ढांढस बंधाने में लगे थे। मासूम बच्चे कभी रोती अपनी मां के पास तो कभी पिता के शव के पास विलखते दिखाई पड़े। ग्रामीणों ने बताया कि ब्रह्मदेव सिंह के पुत्र शैलेंद्र सिंह का गवना छह माह पूर्व हुआ था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मूसलधार बारिश से नदियों में उफान