अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जवान की मौत पर उठे सवाल

बुद्धा कॉलोनी थाने के बैरक में संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से होमगार्ड जवान ओमप्रकाश सिंह (50) की मौत से शनिवार को सनसनी फैल गई। पुलिस इसे खुदकुशी का मामला बता रही है जबकि मृतक के परिजनों व बिहार रक्षावाहिनी स्वयं सेवक संघ ने हत्या की बात कहते हुए घटना की सीबीआई जांच की मांग की है। आक्रोशित परिजनों व गृहरक्षकों ने दोपहर बाद शव के साथ गांधी मैदान स्थित कारगिल चौक के समीप सड़क जाम कर दिया। टाउन डीएसपी संजय सिंह, गांधी मैदान थानाध्यक्ष निसार अहमद व अन्य अधिकारी दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे।ड्ढr ड्ढr तत्काल प्रशासन की ओर 10 हजार रुपये मुआवजा देने व उचित कार्रवाई का आश्वासन मिलने पर लोगों ने जाम समाप्त किया। इसके बाद शाम में बांसघाट पर मृतक की अंत्येष्टि हुई जहां राजद सांसद रामकृपाल यादव समेत सैकड़ों नम आंखों ने जवान को आखिरी विदाई दी। ओमप्रकाश थाने के सामने स्थित बैरक में रहता था। उसकी टीम के गृहरक्षक नाथुन प्रसाद यादव ने बताया कि भोर में 4 बजे गश्ती से लौटा सिपाही अनिल सिंह जब राइफल रखने बैरक में गया तो चौंक गया। चौकी पर आधा शरीर झुका हुआ व दोनों पैरों के बीच फंसे राइफल के साथ ओमप्रकाश लहूलुहान मृत पड़ा था। गोली सीने पर लगी और शरीर पार कर गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जवान की मौत पर उठे सवाल