अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जॉर्जियाई सेना के वापस लौटने से पहले कोई वार्ता नहीं : रूस

स ने शनिवार को कहा है कि जॉर्जिया द्वारा दक्षिण ओस्सेतिया के काकेशश क्षेत्र से अपनी सेनाएं वापस बुलाने के बाद ही वह उससे वार्ता करेगा। नाटो में रूस के राजदूत दमित्रि रोगोजिन ने कहा कि जॉर्जिया द्वारा अपनी सेनाओं को दक्षिण ओस्सेतिया में संघर्ष शुरू होने के पहले की स्थिति में बुलाने के बाद ही रूस उसके साथ कोई बातचीत शुरू करेगा। रोगोजिन ने ब्रूसेल्स में संवाददाताओं से कहा, ‘‘उनको वहीं लौटना होगा जहां वे तीन दिन पहले थे।’’ अन्यथा इस संबंध में कोई बातचीत संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि कूटनीतिज्ञों की बैठक से पहले सभी पूर्व शर्तो का पूरा होना आवश्यक है। रोगोजिन ने आरोप लगाया कि जॉर्जिया के अधिकारी संघर्षग्रस्त क्षेत्र में जातीय नरसंहार कर रहे हैं। वहां पर अधिकांश नागरिक रूसी मूल के हैं। रोगोजिन ने कहा कि जॉर्जियाई सेनाओं ने रूस के करीब 15 शांतिरक्षकों की हत्या और 70 से अधिक को घायल कर दिया है। कुछ शांतिरक्षकों की तो पकड़ने के बाद हत्या की गई। उन्होंने कहा कि जॉर्जिया के राष्ट्रपति साक्शविली द्वारा दिखाई गई क्रूरता से उनको धक्का लगा है। उन्होंने कहा कि इस नरसंहार के लिए साक्शविली जिम्मेदार हैं और अंत में उनको न्याय के लिए पेश किया जाएगा। रूस ने कहा है कि दो दिन से जारी संघर्ष में करीब 1500 लोगों की मौत हुई है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘जॉर्जियाई सेना की वापसी से पहले वार्ता नहीं’