DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंगल पर जीवन के पर्याप्त सबूत!

विश्व के एक जाने-माने अंतरिक्ष वैज्ञानिक कहना है कि मंगल पर जीवन के पर्याप्त सबूत हैं लेकिन अमेरिकी प्रशासन राजनीतिक कारणों से इसकी घोषणा नहीं कर रहा। अंतरिक्ष वैज्ञानिक चंद्रा विक्रमसिंघे ने कहा, ‘‘मंगल पर मिला तरल जल और इससे पहले वहां से लाए गए उल्का पिंडों से मिले जविक तत्वों के अलावा मंगल के वातावरण में मिथेन गैस का होना वहां पर जीवन के प्रमाण हैं।’’ वेल्स के कार्डिफ विश्वविद्यालय में ‘अप्लायड मैथमेटिक्स और एस्ट्रोनॉमी’ के प्रोफेसर विक्रमसिंघे ने जोर देकर कहा, ‘‘मैं जीवन के अवशेष की बात नहीं कर रहा बल्कि वहां पर समकालीन जीवन की बात कर रहा हूं।’’ विक्रमसिंघे ब्रिटिश अंतरिक्ष वैज्ञानिक स्वर्गीय सर फ्रेड होले के साथ काम कर चुके हैं। उन्होंने श्रीलंका के राजदूत और पत्रकार वाल्टर जयवर्धने के साथ बातचीत में यह बात कही। विक्रमसिंघे ‘पान्सपेर्मिआ’ सिद्धांत की वकालत करने वालों में से एक हैं। इस सिद्धांत के तहत माना जाता है कि सभी ग्रहों पर जीवन हो सकता लेकिन वैज्ञानिकों के लिए इसका पता लगाना मुश्किल है। विक्रमसिंघे ने कहा कि मंगल के उत्तरी ध्रुव पर बर्फ मिलने संबंधी 31 जुलाई की अमेरिकी वैज्ञानिकों की घोषणा और इससे पहले के शोधों को देखते हुए उन्होंने यह निष्कर्ष निकाला है। उन्होंने कहा, ‘‘सन 1में जब नासा के अंतरिक्ष यान वाइकिंग 1 और वाइकिंग 2 मंगल पर उतरे थे तब भी वहां जीवन के पुख्ता प्रमाण मिले थे। लेकिन नासा के वैज्ञानिकों ने जविक तत्वों व जीवित पदार्थो के अवशेष मिलने के बाद नकारात्मक और अस्पष्ट रुख अपनाया। नासा ने सावधानीपूर्वक कहा कि मंगल पर कोई जविक तत्व और कोई जीवन नहीं मिला है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन 32 वर्ष बाद मेरे मित्र गिल लेविन, जो उस परियोजना के मुख्य शोधकर्ता थे, मानते हैं कि 1में ही मंगल पर जीवन का पता चल गया था। 1े शोध में मंगल पर मरे हुए कीटाणु और उनके क्षत-विक्षत अवशेष मिले थे।’’ इस वैज्ञानिक ने कहा कि मंगल पर जीवन के होने की पुष्टि में हो रही देरी का विज्ञान से कोई खास लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं मानता हूं कि यहां पर अब राजनीतिक और सामाजिक कारण ज्यादा मायने रखने लगे हैं।’’ उन्होंने कहा कि यदि वहां पर जीवन का पहले ही पता लगा लिया गया है तो आज शोध के नाम पर अरबों डालर खर्च करने का कोई मतलब नहीं है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मंगल पर जीवन के पर्याप्त सबूत!