अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रभाकरण आतंकी नहीं दोस्त हैच : करुणानिधि

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री और द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के अध्यक्ष एम. करुणानिधि ने रविवार को कहा कि प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन लिबरेशन टाइगर्स आफ तमिल ईलम (लिट्टे) का प्रमुख वी प्रभाकरण आतंकवादी नहीं है। करुणानिधि ने एक न्यूज चैनल के साथ साक्षात्कार में कहा कि वह मेरे दोस्त हैं और वह आतंकवादी नहीं है। संगठन में कुछ ऐसे तत्व हो सकते हैं जो हिंसा में लिप्त हों। लिट्टे की मांग जायज है लेकिन उसे हासिल करने का उसका तरीका गलत है। श्रीलंका में लिट्टे के खिलाफ जारी सैन्य अभियान में प्रभाकरण को नुकसान पहुंचने की स्थिति के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अगर वह मारे जाते हैं तो मुझे बेहद अफसोस होगा। उल्लेखनीय है कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 21 मई 1ो तमिलनाडु के श्रीपेरंबदूर में एक चुनावी जनसभा के दौरान मानव बम विस्फोट से हत्या कर दी गई थी। इसमें लिट्टे का हाथ पाया गया था। कांग्रेस के प्रवक्ता कपिल सिब्बल ने करूणानिधि के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह उनकी व्यक्ितगत राय है। हम लिट्टे को आतंकवादी संगठन मानते हैं। प्रभाकरण राजीव गांधी हत्याकांड में अभियुक्त है। अगर श्रीलंका सरकार उसे पकड़ती है तो हम उम्मीद करते हैं कि उसे भारत को सौंप दिया जाएगा। जो भी लोग इस संगठन से जुड़े हुए हैं, वे आतंकवादी हैं। भाजपा प्रवक्ता प्रकाश जावडेकर ने कहा कि लिट्टे आतंकी संगठन है और हमारी चिंता उन तमिल नागरिकों को लेकर ह,ै जो श्रीलंकाई सेना और लिट्टे के बीच जारी संघर्ष में फंसे हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रभाकरण आतंकी नहीं दोस्त हैच : करुणानिधि