अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देवघर में उमड़ा आस्था का सैलाब

सावन की अंतिम सोमवारी को लगभग डेढ़ लाख कांवरियों ने बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण किया। कांवरियों की कतार नंदन पहाड़ तक पहुंच गयी। बरमसिया चौक पर उग्र कांवरियों ने कतार तोड॥कर भगदड़ मचाया, जिसमें लगभग आधा दर्जन कांवरिये जख्मी हो गये। उधर शांतिपूर्ण ढंग से सावन के चारो सोमवारी निकल जाने पर प्रशासन ने राहत की सांस ली।ड्ढr सावन की अंतिम सोमवारी पर लाखों कांवरिया बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण के लिए देवघर में रविवार की रात ही पहुंच गये थे। रविवार की रात से हो रही जोरदार वर्षा में भींगकर भी कांवरिया घंटो अपनी बारी का इंतजार करते रहे।ड्ढr ड्ढr तेज वर्षा के कारण कांवरिया कंपकपा रहे थे। इसके बावजूद भी उनकी आस्था असीम रही और बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण किया। कई स्वयं सेवी संस्थाओं एवं स्थानीय महिलाएं कांवरियों की सेवा में लगी रही। उधर बाबा मंदिर में घुसपैठ पर कड़ी नजर उपायुक्त मस्तराम मीणा स्वयं बनाये हुए थे, जबकि आरक्षी अधीक्षक मनोज कौशिक रूट लाईनिंग में मोर्चा संभाले हुए थे। संथाल परगना के आईाी हरे कृष्ण मिश्रा ने भी कैंप दिन भर कैंप किया। अंतिम सोमवारी के कारण डाक बम कांवरियों की संख्या अन्य दिनों की तुलना में कहीं ज्यादा थी। डाक बम कांवरियों के हाथ से लाठी प्रशासन ने मानसिंघी तालाब के समीप जमा करवा लिया था। कहीं बैकडोर की प्रत्याशा में घंटो बैठे कांवरियों को निराशा हाथ लगी। मंदिर परिसर में रखे जल पात्र में जल डालकर लौटना पड़ा। कांवरियों ने प्रशासन द्वारा घुसपैठ बंद कराये जाने पर खुशी का क्षहार किया और प्रशासन को ‘टाईट बम’ नाम से नामकरण किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: देवघर में उमड़ा आस्था का सैलाब