अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चक दे इंडिया के शोर के बीच बिंद्रा ने काटा केक

अभिनव बिंद्रा द्वारा भारत के लिए पहला व्यक्ितगत ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने के एक दिन बाद मंगलवार को बीजिंग में पहली ऑफिशियल पार्टी हुई। इस पार्टी में अभिनव ने चक दे इंडिया के शोर के बीच जल्दबाजी में ऑर्डर किये गये राइफल के आकार का केक काटा। जब उनसे मां बबली के बयान पर कि वह देश के सबसे सुयोग्य कुंआर हैं पर टिप्पणी करने को कहा गया तो उन्होंने चौड़ी मुस्कान के साथ मजाक में कहा कि मैं अपनी मां के साथ बात नहीं कर रहा हूं। भारत का नया ऑइकन फिलहाल ब्रेक चाहता है। भारतीय दूतावास में समोसा और पकौड़ा खाते हुए बातचीत के दौरान बिंद्रा ने कहा कि मैं बहुत थक गया हूं। मैं सेटल होने के लिए थोड़ा समय, जगह और शांति चाहता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘मुझसे ज्यादा मेर माता पिता एक्साइटेड हैं। मैं घर जाने के लिए तैयार हूं।’ उनकी पहली इच्छा है कि वह घर पहुंचें और कम से कम दो हफ्ते अपने परिवार के साथ बिताएं। ऐतिहासिक जीत के क्षण के बार में उन्होंने कहा, ‘जीत के मौके पर खुशी का इजहार मैं जोरदार तरीके से कर सकता था। मैं शायद ऐसा ही करता। लेकिन जब मैंने मेडल जीत लिया तो मेर दिल में एक ही बात आयी। हम पहले ऐसा क्यों नहीं कर सके।’ बिंद्रा ने कहा कि वह भी क्रिकेट फैन हैं। लेकिन क्रिकेट से इतर भी काफी खेल हैं। उन्होंने कहा, ‘क्रिकेट की वजह से हमारा शुमार स्पोर्टिग नेशन के तौर पर नहीं होता है। हमें ठोस ओलंपिक कार्यक्रम बनाने की जरूरत है।’ उन्होंने कहा कि चीन का मेडल फैक्टरी मॉडल भारत के लिए कारगर नहीं है। बिंद्रा ने कहा, ‘हम चीन से कुछ चीजें ले सकते हैं लेकिन हमें ऐसा सिस्टम चाहिए जो हमार लिए कारगर हो।’ बिंद्रा ने कहा वह अपने बार में लिखी हुई सारी खबरं नहीं पढ़ते हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चक दे इंडिया के शोर के बीच बिंद्रा ने काटा केक