अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदसलूकी से नाराचा रलकर्मियों का हंगामा

डीाल शेड के एक कर्मचारी से उत्तर रलवे के वरिष्ठ कार्य अभियंता को बदसलूकी भारी पड़ी। नाराा रलकर्मियों ने मंगलवार की दोपहर काम बंद कर प्रदर्शन किया। देर रात तक अभियंता को निलम्बित करने की माँग को लेकर कर्मचारी कार्य निरीक्षक कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते रहे। उधर उप मुख्य यांत्रिक अभियंता व एडीआरएम सहित कई अधिकारियों के मौके पर पहुँचने के बावाूद कर्मचारियों का गुस्सा शांत नहीं हुआ। डीआरएम चाहते राम ने कहा कि बिनाोाँच किसी कर्मचारी का निलम्बन नहीं होगा।ड्ढr उत्तर रलवे की एलडी कालोनी निवासी धनवीर यादव मंगलवार की सुबह मुख्य कार्य निरीक्षक कार्यालय पर तैनात अभियंताओं के पास कालोनी के पम्प हाउस की खुली बोरिंग बंद करने के लिए प्रार्थना पत्र देने गए थे। प्रार्थना पत्र में बोरिंग बंद न किएोाने से उसमें बच्चों के गिरने के खतर काोिक्र था। श्री यादव ने बताया कि वह कार्य निरीक्षक एससी द्विवेदी व वीके श्रीवास्तव को प्रार्थना पत्र दे रहे थे तो उन्होंने उसे लेने से इनकार कर दिया। इसके बाद वह वरिष्ठ खण्ड अभियंता एके सिंह के पास गए। कर्मचारियों का आरोप है कि एके सिंह ने उसे धक्का देकर गिरा दिया और कार्यालय का गेट बंद करा दिया। इसकी भनकोब नार्दर्न रलवे मेन्स यूनियन के शाखामंत्री मदन गोपाल मिश्र को मिली तो वह कई कर्मचारियों के साथ आईओडब्ल्यू कार्यालयोा पहुँचे। श्री मिश्र के पीछे करीब सवा सौ कर्मचारी डीाल शेड में काम बंद करके वहाँ पहुँचकर नारबााी करने लगे। मामला गरमाता देखकर उप मुख्य अभियंता अखिलेश मिश्र ने उनको समझाने की कोशिश की लेकिन गुस्साए कर्मचारियों ने उनकी एक न सुनी। वह दोषी अभियंता के निलम्बन से कम किसी कार्रवाई पर रााी नहीं थे। दोपहर बाद अपर मंडल रल प्रबंधक एपी सिंह सहित कई अधिकारियों ने मौके परोाकर कर्मचारियों से प्रदर्शन बंद करने को कहा लेकिन वह उनकी बात नहीं सुनी। अधिकारियों को कर्मचारियों ने आईओडब्ल्यू कार्यालय से बाहर नहीं निकलने दिया। नीलांचल एक्सप्रेस का इांन डीाल शेड से बाहर न निकलने देने पर आमादा कर्मचारियों को यूनियन नेता मदन गोपाल ने समझा-बुझाकर ट्रेनों के इांन ोने में रुकावट पैदा करने से रोक दिया।ड्ढr देर रात तक सैकड़ों कर्मचारी प्रदर्शन व नारबााी करते हुए अपना विरोध कर रहे थे। उन्होंने अँधेरा होते ही दफ्तर की बिाली काट दी।ोिससे कर्मचारियों के साथ अधिकारी भी अँधेर में बैठे रहे। उधर नार्दर्न रलवे मेंस यूनियन के मण्डल मंत्री आर के पाण्डेय ने कहा है कि अगर दोषी अभियंता के खिलाफ कार्रवाई न की गई तो बुधवार से पूर मंडल में आंदोलन कियाोाएगा।ोबकि आरोपी अभियंता एके सिंह ने कर्मचारी के साथ मारपीट व धक्का-मुक्की से इनकार किया है। उनके मुताबिक धनवीर यादव कालोनी के पम्प हाउस में अपनी गाड़ी व भूसा रखते थे। वह उसका दरवा निकालेोाने से नाराा थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बदसलूकी से नाराचा रलकर्मियों का हंगामा