अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सफाई के बाद भी मूल सवाल कायम:जदयू

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा है कि रलवे में जमीन के बदले नौकरी के मामले में उच्च स्तरीय जांच से दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। इस मामले में 500 पृष्ठों का दस्तावेजी सबूत पर राजद की प्रतिक्रिया को खारिज करते हुए श्री सिंह ने कहा कि लाख सफाई देने के बाद भी मूल सवाल अनुत्तरित है।ड्ढr दुनिया में कोई अपराधी ऐसा नहीं जो अपराध करने के बाद स्वीकार करता है कि उसने अपराध किया है। ऐसे में रलवे में हुए घपले की बात कोई कैसे स्वीकार कर सकता है?ड्ढr ड्ढr इसीलिए तो उन्होंने पूर मामले की जांच की मांग की है। वे कोई आरोप नहीं लगा रहे या फिर मनगढंत बातें नहीं कह रहे। रलमंत्री लालू प्रसाद जांच से क्यों भाग रहे हैं? ‘हाथ कंगन को आरसी क्या’ उन्हें खुद ही पूर मामले की जांच करानी चाहिए। श्री सिंह ने राजद की प्रतिक्रिया को बचकाना बताया और कहा कि सवाल यह है कि जिसकी जमीन लिखी गई उसे ही रलवे में कैसे नौकरी मिली? इसका जवाब देना चाहिए। या फिर यह बताएं कि ऐसे लोगों को नौकरी नहीं दी गई। क्या यह महज संयोग है कि लालू प्रसाद या उनके परिजनों को जमीन लिखने वालों को ही पूर देश में विभिन्न जोनों में रलवे की नौकरी मिल गई। जीएम बगैर रलमंत्री के इशार पर किसी को नौकरी दे सकता है क्या? इसी तरह इस सवाल का भी उत्तर नहीं है कि बीएनआर होटल को जमीन देने वालों के हवाले किया गया या नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सफाई के बाद भी मूल सवाल कायम:जदयू