अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सामने क्यों नहीं आते नीतीश

राजद ने कहा है कि रलवे को चौपट करने वाले आज बिहार को बर्बाद करने में लगे हैं। जनता से किये गये वादे पूर नहीं हुए तो झूठ के पुलिंदे के सहार लालू प्रसाद को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं। ऐसे लोगों को रलवे का विकास सुहा नहीं रहा है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अब्दुलबारी सिद्दीकी, राष्ट्रीय प्रवक्ता श्याम राक, प्रदेश मुख्य प्रवक्ता शकील अहमद खां, प्रधान महासचिव रामकृपाल यादव, महासचिव डा. निहोरा प्रसाद यादव और प्रवक्ता श्याम सुंदर सिंह धीरा ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अध्यक्ष ललन सिंह और प्रवक्ता शिवानंद तिवारी ‘कोर्ट बर्ड’ हो गये हैं।ड्ढr हर बार उनकी सजिश विफल हो जाती है और इस बार भी वही होना है। अब तो नीतीश कुमार को भी सामने आ जाना चाहिए। लुकाछीपी करने से उनकी साजिश छुपने वाली नहीं है। लालू प्रसाद पर आरोपों के समर्थन में जो दस्तावेज उनकी पार्टी द्वारा प्रस्तुत किये गये उसमें सूचना एवं जन संपर्क विभाग का फ्लैग लगा है। स्पष्ट है कि साजिश बिहार सरकार रच रही है।ड्ढr ड्ढr एक सवाल के जवाब में राजद नेताओं ने कहा कि अगर जदयू के नेता आरोपों को साबित नहीं कर सके तो राजद कानूनी कार्रवाई करगा। उन्होंने कहा कि 13,8000 रुपये की संपत्ति को एक सौ करोड़ का बताया जा रहा है। लालू प्रसाद ने जो संपत्ति की खरीदी की है उसका भुगतान चेक के माध्यम से हुआ है और आयकर विभाग में भी वह दर्शाया गया है। एक अणे मार्ग खाली करने के समय जब मवेशियों को रखने की जगह नहीं थी तो श्रीमती कांति सिंह ने इसके लिए अपनी जमीन लीज पर दी थी। लेकिन बलदेव राय से जमीन लेने, ए के इन्फोसिस कंपनी के नाम लिखी गई जमीन में लालू प्रसाद के दामाद की हिस्सेदारी होने, केन्द्रीय मंत्री जय प्रकाश नारायण यादव द्वारा उनके परिवार के नाम जमीन देने जसे आरोप या तो वे साबित करें या फिर सार्वजनिक रूप से माफी मांगें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सामने क्यों नहीं आते नीतीश