अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कथक सम्राट बिरजू महाराज ने नर्तकों को बताए कथक के गुर

थक सम्राट पद्मविभूषण पं. बिरजू महाराज की कथक की क्लास शनिवार से राजधानी में शुरू हो गयी। वे तीन दिनों तक राजधानी व सूबे के कथक सीख रहे बच्चे,युवा व गुरुओं को इस नृत्य की बारीकियां समझाएंगे। कथक को समर्पित संस्था निनाद के तत्वावधान में तीन दिनों की कार्यशाला होगी। शनिवार को पाटलिपुत्र बोरिंग रोड स्थित निनाद कार्यालय में महाराज जी की क्लास लगी। यह क्लास लगभग छह घंटे तक चली। महाराज जी ने अपने विशेष अंदाज में नर्तकों व नृत्यांगनाओं को कथक के गुर बतलाए।ड्ढr ड्ढr तोड़ा, टुकड़ा, परण पेश करने के टिप्स दिए। पदचालन (फुटवर्क) को कैसे बेहतर करं। भाव-भंगिमा में कैसे लाएं सुधार। तबले या अन्य वाद्ययंत्रों के साथ नृत्य के दौरान कैसे बेहतर तालमेल रखा जाए। युगलबंदी के दौरान किस तरह की सावधानियां रखी जाएं। नर्तकों की जिज्ञासाएं को पं.जी ने सहजता के साथ शांत किया। महाराज की यह क्लास सोमवार तक चलेगी। रविवार को शाम में तारामंडल में वे अभिभावकों के बीच व्याख्यान सह प्रदर्शन करंगे। इस मौके पर निनाद की सचिव नीलम चौधर, राजीव सिन्हा आदि भी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कथक सम्राट बिरजू महाराज ने नर्तकों को बताए कथक के गुर