अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुरुचाी आर-पार के मूड मेंसूबे में

राजनीतिक गहमा-गहमी पूर उफान पर है। शनिवार को झामुमो का एक प्रतिनिधिमंडल राजभवन पहुंचा। झामुमो नेताओं ने राज्यपाल से रविवार को मिलने के लिए शाम सात बजे का समय मांगा है। झामुमो रविवार को अपनी प्रस्तावित बैठक में निर्णायक फैसला लेने के मूड में है। बैठक की रणनीति के साथ-साथ निर्दलीय मंत्रियों के साथ झामुमो का संपर्क अभियान भी जारी रहा। निर्दलीय मंत्री बंधु तिर्की शनिवार को दोपहर बाद दिल्ली से लौटे और फिर शाम को पटना चले गये। स्वास्थ्य मंत्री भानू प्रताप शाही ने हवाई अड्डे पर उनसे गुप्त मंत्रणा की। इस बीच शनिवार को मानसून सत्र आहूत होने की अधिसूचना जारी होते ही राजनीतिक हलके में हलचल मच गयी। दोपहर में ही कोड़ा सरकार के प्रस्ताव पर राजभवन ने मंजूरी दे दी। सरकार ने 1सितंबर से मानसून सत्र आहूत करने का प्रस्ताव राजभवन भेजा था। उधर, स्टीफन ने साफ कहा है कि हमारा स्टैंड क्लीयर है, गुरुाी अपने स्टैंड पर फिर विचार करं। यूपीए के घटक हमार साथ: शिबू झामुमो 17 अगस्त को राज्य की मधु कोड़ा सरकार से समर्थन वापस लेगा। झामुमो विधायक दल और केंद्रीय समिति की बैठक में समर्थन वापसी पर अंतिम मुहर लगेगी। पार्टी के अनुरोध पर राजभवन ने शाम सात बजे मिलने का समय दिया है। शिबू सोरन के नेतृत्व में पार्टी का 26 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल राज्यपाल से मिलेगा।ड्ढr झामुमो सांसद हेमलाल मुमरू ने कहा है कि विधायक दल और केंद्रीय समिति की बैठक में कोड़ा सरकार से समर्थन वापस ले लिया जायेगा। इधर, झामुमो केंद्रीय समिति के संगठन सचिव सुप्रियो भट्टाचार्य के अनुसार विधायक दल और केंद्रीय समिति की बैठक न केवल अति महत्वपूर्ण है बल्कि राज्य के भविष्य की दिशा तय करेगी। उन्होंने बताया कि कांके रोड स्थित हॉटलिप्स परिसर में 11 बजे से विधायक दल और दो बजे से केंद्रीय समिति की बैठक होगी। इस बीच, बोकारो में गुरुाी ने चिरपरचित अंदाज में कहा कि यूपीए के आला नेताओं ने उन्हें मुख्यमंत्री बदलने की जिम्मेवारी सौंपी है तथा यूपीए के घटक दल उनके साथ हैं। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि जहां तक निर्दलीय विधायकों का सवाल है सभी उनके साथ है तथा सभी मंत्री बने रहेंगे। मुख्यमंत्री बनने पर वर्तमान सीएम मधु कोड़ा को क्या जिम्मेवारी सौंपेगे के जबाब में उन्होंने कहा कि सीएम बनने के बाद ही इस पर निर्णय होगा। गुरुाी ने कहा कि रविवार को होने वाली बैठक में नेताओं के साथ पंचायत स्तरीय कार्यकर्ताओं को बुलाया गया है, सभी की राय से ही निर्णय लेंगे। केंद्रीय मंत्रिमंडल में झामुमो की सहभागिता के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस बात का निर्णय यूपीए के आला नेता करंगे तथा झामुमो की हिस्सेदारी दो मंत्रियों की है।ड्ढr सुबोधकांत भी रांची पहुंचे: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय ने शनिवार को कहा कि कोड़ा सरकार झारखंड के लोगों की अपेक्षाओं पर खरी नहीं उतरी, कांग्रेस का कोड़ा सरकार से पहले ही मोह भंग हो चुका है। उन्होंने कहा कि यदि शिबू सोरन सरकार बनाने की पहल करते हैं, तो कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल उनको समर्थन करने को तैयार हैं। केंद्र के प्रतिनिधि के तौर पर सुबोध कांत सहाय रांची पहुंच गये हैं। सत्ता संघर्ष के बीच विस का मानसून सत्र आहूत हिन्दुस्तान ब्यूरो रांची सूबे में राजनीतिक गहमा-गहमी के बीच राज्यपाल ने झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र 1सितंबर से आहूत किया है। राज्यपाल सैयद सिब्ते राी ने सरकार के प्रस्ताव को शनिवार को मंजूरी दे दी। राजभवन से मिली जानकारी के मुताबिक विधानसभा का (एकादश) मानसून सत्र 1से 25 सितंबर तक चलेगा। मंत्रिमंडल समन्वय एवं संसदीय कार्य विभाग ने इस संबंध में अधिसूचना भी जारी कर दी। विस सचिवालय से भी देर शाम सत्र के लिए सम्मन जारी हो गया।ड्ढr सत्तारूढ़ यूपीए के अंदर चल रहे सत्ता संघर्ष के बीच विधानसभा के मानसून सत्र का आहूत होना कुछ और संकेत कर रहा है। यूपीए के सबसे बड़े घटक दल झारखंड मुक्ित मोर्चा ने सरकार से समर्थन वापसी की चेतावनी दी है। रविवार को झामुमो विधायकों-नेताओं की अहम बैठक होनेवाली है। बैठक के एन एक दिन पहले मानसून सत्र की अधिसूचना जारी हो चुकी है। झामुमो ने रविवार की शाम राज्यपाल से मिलने के लिए समय मांगा है। निर्दलीयों के साथ बात नहीं बनी, तो झामुमो सरकार से समर्थन वापस ले सकता है। समर्थन वापसी के बाद उत्पन्न होनेवाली परिस्थिति में एक बार सबकी निगाहें राजभवन पर निर्भर टिक जायेंगी। क्योंकि कोई भी सरकार अल्पमत में है या बहुमत में, यह सदन में ही तय होता है। एसी परिस्थिति में राजभवन से मधु कोड़ा सरकार को सदन का विश्वास हासिल करने का निर्देश मिलेगा।ड्ढr मानसून सत्र आहूत होने के बाद राज्यपाल सरकार को निर्धारित सत्र से पहले ही सदन का विश्वास हासिल करने का निर्देश दे दें या मानसून सत्र के पहले दिन सदन का विश्वास हासिल करने को कहें। यह सब कुछ राज्यपाल के विवेक पर निर्भर करता है। हमारा स्टैंड क्लीयर हिन्दुस्तान ब्यूरो रांची नेतृत्व नहीं बदलने पर अड़े डिप्टी सीएम स्टीफन मरांडी का कहना है कि निर्दलीयों का स्टैंड क्लीयर है। झामुमो सुप्रीमो विचार करं। सरकार को डिस्टर्ब करने को कोई मतलब नहीं है। कोड़ा सरकार ठीक काम कर ही रही है। फिर इसमें झामुमो के भी तीन लोग हैं। नेतृत्व परिवर्तन के कारणों पर भी बात होनी चाहिए। इसके बाद भी गुरुाी अगर अपनी बात पर रिािड हैं, तो उनकी मर्जी। राष्ट्रपति शासन लगेगा, तो सिर्फ निर्दलीयों के लिए नहीं। गुरुाी को भी बताना चाहिए कि नेतृत्व परिवर्तन क्यों? यह बी बताना चाहिए कि सरकार में उनकी कौन सी बात नहीं सुनी गयी।ड्ढr मरांडी दुमका में हैं। रविवार को रांची आयेंगे। सीएम समेत सभी निर्दलीयों से उनकी बात हो रही है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि विस का मानसून सत्र 1सितंबर से बुलाने का पहले से ही प्रस्ताव था। इसे किसी मामले से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। झामुमो ने राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है और खुद सोरन ने कहा है कि 17 अगस्त को सरकार से समर्थन वापस का फैसला ले लेंगे। मरांडी ने कहा: हम भी तो अपने स्टैंड पर कायम हैं। निर्दलीय आपस में बात कर कोई कदम उठायेंगे। गुरुाी से भी बात करने से परहेा नहीं है। सीएम ने इच्छा भी जतायी है। मरांडी ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस- राजद नेताओं से भी बात होगी। दरअसल यूपीए नेतृत्व की तरफ से कोई निर्देश नहीं आया है। समर्थन वापसी पर प्रेसिडेंट रूल: लालूड्ढr रांची। राजद प्रमुख सह रल मंत्री लालू प्रसाद ने कहा है कि अगर शिबू सोरन सरकार से समर्थन वापस लेते हैं, तो राष्ट्रपति शासन का रास्ता साफ होगा। राजद नेता सहारा टीवी चैनल से बात कर रहे थे। उन्होंने एक बार फिर कहा है कि सीएम बनने के लिए सोरन को निर्दलीयों का समर्थन जुटाना ही होगा। अपने अंदाज में लालू ने कहा: हम उम्मीदवार होंगे, तो हमको ही समर्थन जुटाना होगा।ड्ढr पता हो कि कांग्रेस के साथ ही लालू ने भी निर्दलीयों का समर्थन जुटाने के लिए झामुमो पर जिम्मेदारी छोड़ी है। शुक्रवार को दिल्ली में सरकार के मंत्री बंधु तिर्की तथा राजद विधायक प्रकाश राम लालू प्रसाद से मिले थे। विधायक के मुताबिक सुप्रीमो ने कहा है कि सीएम बनने के लिए सोरन को निर्दलीयों का समर्थन जुटाना चाहिए। हिब्यू

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गुरुचाी आर-पार के मूड मेंसूबे में