DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरियाणा में सत्ता की दिशा तय करेगा यह चुनाव

हरियाणा में इस बार का लोकसभा चुनाव इस मायने ज्यादा अहम हो गया है कि इससे अगले साल होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव की दिशा और दशा का अंदाजा लग जाएगा। मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार राज्य में पिछले चार वर्षो से है। अगले साल फरवरी-मार्च में राज्य विधानसभा का चुनाव होना है। ऐसे में यह लोकसभा चुनाव हुड्डा सरकार के लिए खासी अहमियत रखता है। पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने राज्य की कुल 10 सीटों में से नौ पर जीत दर्ज की थी और एक सीट भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खाते में गई थी। इस बार विपक्षी इंडियन नेशनल लोक दल (आईएनएलडी) और भाजपा मिलकर कांग्रेस से मुकाबला करेंगे। आईएनएलडी के नेता अजय चौटाला ने कहा, ‘‘जनता हुड्डा सरकार की नीतियों से परेशान आ चुकी है। यह चुनाव वर्तमान सरकार पर जनमत संग्रह होगा।’’ हुड्डा और चौटाला दोनों ने ही जीत के दावे किए हैं। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल और उनके पुत्र कुलदीप बिश्नोई की पार्टी हरियाणा जनहित कांग्रेस (एचजेसी) भी इस बार कांग्रेस के वोट बैंक पर असर डाल सकती है। दूसरी आेर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) भी अपनी छाप छोड़ने की तैयारी में है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हरियाणा में सत्ता की दिशा तय करेगा यह चुनाव