DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छपरा-पटना रोड पर चढ़ा पानी

पिछले दो दिनों में हुई भारी वर्षा व गंगा-सरयू नदियों में उफान की वजह से छपरा-पटना मार्ग पर भी बाढ़ का पानी चढ़ गया है। तेलपा, सदर प्रखंड कार्यालय के सामने समेत कई स्थानों पर पानी बह रहा है। हालांकि फिलहाल आवागमन बाधित नहीं हुआ है किन्तु जलस्तर में थोड़ी भी वृद्धि हुई तो आवागमन बाधित हो सकता है। वहीं गडख़ा-मानपुर मार्ग पर पानी चढ़ने से आवागमन बाधित हो गया है।ड्ढr ड्ढr भोजपुर जिले के कई गांवों में बाढ़ का पानी घुसने से यातायात ठप हो गया है। अबतक आधा दर्जन लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं नवगछिया के खरीक में खरपुर तटबंध टूटने से कई गांवों में पानी फैल गया है। दूसरी ओर बेगूसराय के साहेबपुर कमाल में सान्हा-गोरगामा तटबंध में दरार आने से पांच मीटर में बांध धंस गया है।ड्ढr ड्ढr छपरा शहर के बड़ा तेलपा मुहल्ले के 25-30 घरों में पानी घुस गया है। प्रखंड कार्यालय परिसर भी जलमग्न हो गया है। छपरा-पटना मार्ग से सटे घेघटा, शेरपुर, विशुनपुरा और खलपुरा गांवों के मार्गो पर भी पानी चढ़ गया है। इससे ग्रामीणों को मार्ग बदलकर आना-जाना पड़ रहा है। शहर की विभिन्न सड़कों पर भी जलजमाव हो जाने से शहरवासियों को भारी परशानी हो रही है।ड्ढr ड्ढr आरा में मरने के बाद धार्मिक कर्मकांडों को पूरा करने की राह में रोड़ा बन रही है बाढ़। जिले के कई प्रखंडों में बाढ़ ने ऐसा कहर ढाया है कि कहीं मार्ग अवरूद्ध हो गये हैं तो कहीं घरों में पानी घुस गया है। इन जगहों पर यातायात पूरी तरह ठप है। अब तक बाढ़ ने आधा दर्जन लोगों को अपने आगोश में ले लिया है। नवगछिया अनुमंडल के खरीक प्रखंड में मंगलवार की दोपहर 1.30 बजे खरपुर तटबंध टूट गया जिससे 16 गांवों की करीब 15 हाार की आबादी बाढ़ के पानी में घिर गई। गंगा नदी में उफान के कारण खरपुर तटबंध में मध्य विद्याालय के पास पिछले दो दिनों से भारी दबाव बना हुआ था। मंगलवार को यह अंतत टूट गया। करीब दो सौ मीटर की लंबाई में बांध कटा है। खरपुर और अकीदतपुर पंचायत के 16 गांवों में बाढ़ का पानी फैल गया है।ड्ढr ड्ढr साहेबपुरकमाल (बेगूसराय) सानहा पूर्वी पंचायत के परोरा गांव से सटे दक्षिण सानहा-गोरगामा तटबंध में दरार आ जाने और पांच मीटर की परिधि में बांध के धंस जाने से स्थानीय लोगों में दहशत है। हीरा सिंह व संजय सिंह के घर के सामने बांध की मिट्टी काटने से बनी सुरंग उपरी सतह का भार व वर्षा के पानी का दबाव सह नहीं सका और वहां बांध धंस गया और बांध में दरारं आ गई।ड्ढr ड्ढr मुजफ्फरपुर में सोमवार की रात से हुई अत्यधिक वर्षा से उत्तर बिहार की सभी नदियों के जलस्तर में वृद्धि जारी है। बागमती जहां कटौझा में लाल निशान को पार कर गया है वहीं अन्य नदियां लाल निशान की ओर बढ़ने लगी है। वाल्मीकिनगर बराज से 1.लाख क्यूसेक पानी छोडने से गंडक बौरा गयी है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छपरा-पटना रोड पर चढ़ा पानी