अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कलर्स को लेकर केबल आपरटरों की मनमानी

‘बिग बास’ सीजन टू में शिल्पा शेट्टी को देखने की लोगों की हसरत धरी की धरी रह गई। ‘कलर्स’ के ‘रंग’ से अभी तक ‘महरूम’ हैं राजधानी के अधिसंख्य इलाकों के लोग। केबल आपरेटरों के असहयोग, संशय और डिकोडर की कमी के कारण यह चैनल उपभोक्ताओं तक नहीं पहुंच पा रहा है। फ्री टू एयर इस मनोरांन चैनल को ‘टीवी-18’ समूह ने 21 जुलाई को लांच किया है। हालांकि राजधानी के लोगों की दीवानगी कलर के प्रति ‘बिग बॉस’ के शुरू होने के बाद बढ़ गयी।ड्ढr ड्ढr इस चैनल ने लोगों को खूब तरसाया भी। फ्री टू एयर चैनल को केबल आपरटर चला भी रहे हैं मनमाने तरीके से। बोरिंग रोड, बुद्धमार्ग समेत कई इलाके के लोगों का कहना है कि जब मन किया केबल वाले इसे चलाते हैं और जब मन किया बंद कर देते हैं। मंगलवार की रात तक का आलम यह था कि राजधानी के कई मुहल्लों में इसका प्रसारण नहीं हो रहा है। उधर, कंकड़बाग, जगदेवपथ, बोरिंग रोड, श्रीकृष्णानगर आदि इलाकों के आपरटर इसका प्रसारण कर रहे हैं। हालांकि राजधानी के एक बहुत बड़े इलाके के उपभोक्ता अभी भी इस चैनल की झलक नहीं देख पाए हैं। जिसमें कदमकुआं, दलदली रोड, चांदमारी रोड, नेहरू नगर के इलाके शामिल हैं।ड्ढr ड्ढr कई इलाकों में दो-तीन दिन चलाने के बाद केबल आपरटरों ने ‘कलर्स’ को उतार दिया। इसमें बोरिंग रोड चौराहा, पूर्वी बोरिंग कैनाल रोड, चकारम, स्टेशन रोड, पाटलिपुत्र कालोनी आदि शामिल हैं। हालांकि इसके बार में पूछने पर कई आपरटरों ने कंट्रोल रूम से प्रसारण नहीं होने की बात कह कर पल्ला झाड़ लिया। दूसरी ओर बिहार केबल टीवी आपरटर एसोसिएशन के अमित प्रकाश ने बताया कि डिकोडर उपलब्ध नहीं होने के कारण इसका प्रसारण नहीं हो पा रहा है। उन्होंने दावा किया कि अगले दो दिनों में राजधानी के उपभोक्ता बिग बास शिल्पा का जलवा छोटे पर्दे पर देख सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कलर्स को लेकर केबल आपरटरों की मनमानी