DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ प्रभावित जिले सेना के हवाले हों

प्रतिपक्ष की नेता राबड़ी देवी ने उत्तर बिहार के बाढ़ प्रभावित जिलों को सेना के हवाले करने और सेना के हेलीकाप्टर से राहत कार्य चलाने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि नेपाल स्थित कुसहा के पास कोसी तटबंध टूटने के बाद भीमनगर बराज के सभी फाटक खोल दिए गए जिससे हाारों लोग पानी में बह गए। सरकार यदि सजग रहती तो ऐसी स्थिति से बचा जा सकता था और हाारों लोग मौत के मुंह में जाने से बच सकते थे। इस बांध की मरम्मत में करोड़ों रुपये की लूट हुई है और इसके ही कारण यह टूट गया। जिस समय बांध टूटा उस समय मुख्यमंत्री अपने दल के पदाधिकारियों के साथ बैठकर राजद को शून्य पर आउट करने की रणनीति बना रहे थे।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा है कि सरकार की संवेदनहीनता, प्रशासनिक अक्षमता और कुप्रबंधन के कारण उत्तरी बिहार का एक बड़ा इलाका जलप्लावित हो गया है। बराज के फाटक को खोलने के पहले लोगों को सूचना भी नहीं दी गई। ये घटनाएं सरकार की बाढ़पूर्व तैयारियों की कलई खोलती हैं। तीन बरसातों में यह सरकार केवल प्रयोग ही करती रही है। बाढ़ग्रस्त जिलों में वैसे अधिकारियों को तैनात किया गया जिन्हें वहां की भोगौलिक संरचना का ज्ञान नहीं है। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार भारत सरकार को पत्र लिखकर लोगों का ध्यान बांट रही है। उसे यह बताना चाहिए इस बांध के रख-रखाव के लिए कोषागार से कितने रुपये की निकासी हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बाढ़ प्रभावित जिले सेना के हवाले हों