DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत ने जताए नेक इरादे

भारत गुरुवार को न्यूक्िलयर सप्लायर्स ग्रुप में यह संदेश देने में कामयाब रहा कि उसके इरादे नेक हैं और उसके इरादों पर किसी को शंका नहीं करनी चाहिए। परमाणु अप्रसार के मामले में उसका रिकॉर्ड इसके गवाह के रूप में पेश किया गया। विदेश सचिव शिवशंकर मेनन ने विशेष ब्रीफिंग में भारत के पक्ष को जोरदार ढंग से रखा। पीएम के विशेष दूत श्याम शरण ने अलग-अलग समूहों में प्रतिनिधियों से बात की और उनकी सभी शंकाओं को दूर किया। औपचारिक बैठक के बार में बताया गया है कि बैठक गहन विचारों से ओत-प्रोत रही। ऑस्ट्रिया, न्यूजीलैंड व स्विटरलैंड ने उस अमेरिकी ड्राफ्ट का विरोध किया जिसमें भारत को प्रतिबंधों से छूट देने के लिए तर्क गिनाये गये हैं। इन देशों ने भारत को छूट देने की वजहों को नाकाफी बताया। विरोध करने वाले देश चाहते हैं कि भारत अगर परमाणु परीक्षण कर तो एनएसजी को वही व्यवहार करना चाहिए जसा कि अमेरिका का हाइड एक्ट अमेरिकी सरकार को करने का निर्देश देता है। इसमें प्रावधान है कि टेस्ट की स्थिति में भारत से असैनिक परमाणु सहयोग रद्द हो जाएगा। लेकिन भारत ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह इस शर्त को स्वीकार नहीं करगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत ने जताए नेक इरादे