अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीणों के द्वार जायेगी सीसीएल की स्वास्थ्य सेवा

सीसीएल की स्वास्थ्य सेवा अब सीधे कमांड क्षेत्र के आसपास के ग्रामीणों के द्वार जायेगी। डीपी टीके चांद ने बताया कि इस वर्ष सात नयी मोबाइल हेल्थ वैन लायी जायेंगी। वैन में सभी तरह के अत्याधुनिक उपकरण लगे होंगे। बुलावे पर वैन गांवों में जायेगी और वहां सेवा उपलब्ध करायेगी। इसके ड्राइवरों को फोन की सुविधा मिलेगी। उनका नंबर गांव-गांव में चिपका दिया जायेगा। जरूरत पर ग्रामीण उनपर संपर्क कर सकेंगे। सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत इसे शुरू करने की योजना है।ड्ढr डीपी ने बताया कि पिछले एक साल में अस्पताल की सेवा में काफी सुधार हुआ है। पहले संतुष्टि का प्रतिशत 50 था। इसमें 21 प्रतिशत का क्षाफा हुआ है। चालू वित्तीय वर्ष में इसे 85 प्रतिशत तक करने की योजना है। दवा उपलब्ध हो जाने से यह बढ़ेगा। इसपर काम चल रहा है। दवा नहीं रहने पर खरीद का प्रोसेस तीन माह पहले शुरू करने का निर्देश एएमओ को दिया गया है। करीब 10एंबुलेंस भाड़े पर ली गयी हैं। इससे स्थिति में सुधार होगा।ड्ढr अस्पताल कमेटी गठितड्ढr द झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन ने गांधीनगर अस्पताल कमेटी गठित की है। महासचिव सनत मुखर्जी एवं दीप नारायण सिंह के अनुसार अध्यक्ष प्रदीप कुमार, उपाध्यक्ष इशाक किंडो, सचिव केदार प्रसाद सिंह, सहायक सचिव शशिशेखर आजाद, संगठन सचिव शिवशंकर प्रसाद जायसवाल, कोषाध्यक्ष आमोद प्रसाद एवं सहायक कोषाध्यक्ष धनेश्वर राम को बनाया गया है। कार्यकारिणी में 15 सदस्यों को रखा गया है।ड्ढr दावे को गलत बतायाड्ढr कोयला मजदूर यूनियन के अध्यक्ष अशोक यादव ने कहा कि सीएमपीडीआइ में 70 फीसदी हड़ताल रही। प्रबंधन गलत आंकड़े दे रहा है। उन्होंने कहा कि यहां 475 कामगार हड़ताल पर रहे। प्रबंधन ने कई को जबरदस्ती टूर पर भेज दिया। शिफ्ट में काम करनेवालों को बिना उपस्थित हुए हाजिर दिखाया गया है। उन्होंने हड़ताल की सफलता के लिए कामगारों को बधाई भी दी।ड्ढr जेबीसीसीआइ की बैठकड्ढr जेबीसीसीआइ की बैठक 27 अगस्त को दिल्ली में होगी। इसमें कोयला कामगारों के वेतन पुनरीक्षण एवं सुविधाएं तय करने को लेकर चर्चा होगी। एक्सग्रेसिया के भुगतान पर भी बातचीत की संभावना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ग्रामीणों के द्वार जायेगी सीसीएल की स्वास्थ्य सेवा