अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अहमदीनेजाद के भाषण पर हंगामा

ोनेवा में नस्लवाद पर आयोजित संयुक्त राष्ट्र डर्बन रीव्यु कांफ्रेंस में सोमवार को ईरान के राष्ट्रपति अहमदीनेजाद के भाषण पर खासा हंगामा खड़ा हो गया। अहमदीनेजाद के भाषण के दौरान कई प्रतिनिधि विरोध जताते हुए सभागार से बाहर निकल गए। अहमदीनेजाद ने आरोप लगाया कि क्षरायलियों ने यहूदियों के नरसंहार के नाम पर एक देश पर कब्जा कर लिया है और एक नस्लभेदी देश का निर्माण कर दिया है। भाषण के दौरान कुछ लोगोंे ने उन्हें नस्लभेदी कहकर नार लगाने शुरू कर दिया जबकि कुछ लोगों ने उनकी सराहना में तालियां भी बजाईं। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून न उाटन भाषण मं कहा कि सम्मलन क बहिष्कार को लेकर वह बहुत निराश हैं। मून न कहा, ‘जिन राष्ट्रों को एक बहतर भविष्य क लिए रास्ता तैयार करन हतु काम करना चाहिए, व यहां उपस्थित नहीं हैं। मुझ गहरा खेद है कि कुछ न सम्मलन स दूर रहन का विकल्प चुना है। लकिन मुझ भरोसा है कि व ज्यादा समय तक एसा नहीं करंग।’ बान न संयुक्त राष्ट्र क मानवाधिकार उच्चायुक्त नवी पिई क साथ चताया कि ताजा आर्थिक और वित्तीय संकट नस्लवाद क लिए उत्प्ररक का काम करगा। उन्होंन राष्ट्रों स संकट क समय सतर्क रहन क लिए कहा। अमरिका, जर्मनी, कनाडा, इटली, न्यूजीलैंड और अन्य कई दशों न सम्मलन का बहिष्कार किया है। इन दशों का कहना है कि सम्मलन क लिए तैयार घोषणा पत्र उनक लिए अस्वीकार्य है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अहमदीनेजाद के भाषण पर हंगामा