DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिंसा जारी रही तो सिंगुर को टा-टा

यदि सिंगुर में हिंसा व गड़बड़ी जारी रही, तो टाटा मोटर्स लिमिटेड वहां से अपना नैनो कार कारखाना हटा सकता हैं। यह धमकी शुक्रवार को टाटा समुह के चेयरमैन रतन टाटा ने दी। टाटा टी के एजीएम में भाग लेने के बाद श्री टाटा ने कहा कि सिंगुर में हिंसा व गड़बड़ी जारी रहने से उनका समूह बेतरह चिंतित है। उन्होंने कहा-हम सिंगुर में अपने कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। वहां उपकरणों की सुरक्षा को लेकर भी चिंतित हैं। वहां संयंत्र में कई सामग्रियों की चोरी की गयी। संयंत्र की दीवार तोड़ी गयी। वहां तनाव बना हुआ है। यदि एसा ही वातावरण बना रहा तो वहां संयंत्र चलाना कठिन होगा। हम पुलिस सुरक्षा में काम नहीं करना चाहते।ड्ढr श्री टाटा ने कहा कि यदि कुछ लोगों को लगता है कि हम सिंगुर में 1500 करोड़ रुपये निवेश कर चुके हैं, इसलिए यहां से हट नहीं सकते तो वे गलतफहमी में हैं। यदि काम लायक माहौल नहीं रहा तो हट जायेंगे। भले उसके लिए कितने ही रुपये का नुकसान क्यों न उठाना पड़े। उन्होंने कहा कि टाटा समूह ने सिंगुर में जो जमीन ली है, उसमें बदलाव संभव नहीं है। उन्होंने ममता बनर्जी के इस आरोप का खंडन किया कि बंगाल सरकार से सिंगुर की जमीन अधिग्रहण को लेकर बंगाल सरकार के साथ उनके समूह के करार में पारदर्शिता नहीं रही है।टाटा ब्लैकमेलिंग ना करं: ममता बनर्जीकोलकाता । तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने रतन टाटा की सिंगुर से नैनो परियोजना हटाने की धमकी की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि वे नहीं चाहतीं कि कोई भी परियोजना बंगाल से चली जाये, लेकिन उसी के साथ वह यह भी साफ कर देना चाहती हैं कि वे किसी दबाव के आगे नहीं झुकेंगी। पूर्व रल मंत्री ने टाटा समूह के मुखिया को आगाह करते हुए कहा कि वह किसी तरह की ब्लैकमेलिंग करने की कोशिश ना करं।ड्ढr ममता ने कहा कि वे सिंगुर के अनिच्छुक किसानों की 400 एकड़ जमीन वापस किये जाने की मांग पर कायम है और इसी मांग को लेकर वे 24 अगस्त से सिंगुर संयंत्र के बाहर बेमियादी धरने पर बैठेंगी। मैं अभी भी आशावान:सीएमड्ढr कोलकाता। मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य को सिंगुर में टाटा का कारखाना लगने की पूरी उम्मीद है। शुक्रवार को उन्होंने कहा कि नैनों कार का उत्पादन निर्धारित समय पर ही होगा। टाटा ने यहां से चले जाने का भी संकेत दिया है, इस बार में उन्होंने कहा कि रतन टाटा ने क्या कहा है, उन्होंने नहीं सुना है। इसलिए वह कुछ भी नहीं कहेंगे।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हिंसा जारी रही तो सिंगुर को टा-टा